Responsive Ad Slot

Latest

latest


 

12 से 14 फरवरी तक मैनपाट महोत्सव का आयोजन, कैलाश खेर सहित कई कलाकार होंगे शामिल


छत्तीसगढ़ के शिमला के नाम से ख्याति प्राप्त सरगुजा जिले के मैनपाट (Mainpat) में अद्भुत प्राकृतिक सौन्दर्य के साथ विभिन्न बोली, भाषा और संस्कृतियों का भी संगम है। मांझी-मंझवार, पहाड़ी कोरवा, आदिवासियों, यादवों और तिब्बती भाषा, बोली और संस्कृति का मेल मैनपाट को अनूठा बनाते हैं। मैनपाट (Mainpat) छत्तीसगढ़ के उत्तरी क्षेत्र में स्थित एक पाट क्षेत्र है। यह विंध्य रेंज पर समुद्र तल से करीब 3500 फीट की ऊंचाई पर स्थित है।









407 वर्ग किलोमीटर में फैला पूरा पाट क्षेत्र पहाड़ी, हरियाली, झरने, नदी, खनिज पदार्थ जैसे प्राकृतिक संसाधनों के अनमोल उपहारों से भरा-पूरा है। मैनपाट (Mainpat) में तिब्बती कैम्प, बुद्धिष्ट मंदिर और अद्वितीय जलवायु प्रसिद्ध हिल स्टेशन शिमला का अहसास कराते हैं।





यह भी पढ़ें:- मैनपाट महोत्सव में मिलेंगे गढ़कलेवा के स्वादिष्ट व्यंजन, लोक कलाकारों को भी मिलेगा मौका





मैनपाट (Mainpat) में 20 से 25 मनमोहक और अद्भूत पर्यटन पॉइंट है, जो पर्यटकों को आकर्षित करते हैं। यहां के पर्यटन पॉइंट में टाईगर पॉइंट, मेहता पॉइंट, फिश पॉइंट, किंग पॉइंट, परपटिया व्यू, बौद्ध मंदिर और अद्भूत उल्टा पानी सहित जलजली शामिल है। उल्टा पानी में नीचे से ऊपर की ओर पानी का बहाव और इंजन बंद वाहनों का चढ़ाई पर चढ़ना या जलजली की सिंप्रग जैसे उछाल वाली जमीन पर्यटकों को विस्मित करते हैं।





2012 से हर साल होता है मैनपाट महोत्सव का आयोजन





जिला मुख्यालय अंबिकापुर से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित मैनपाट जाने के लिए दरिमा-नावानगर से आगे करीब 15 किलोमीटर का सफर पहाड़ी पर चढ़ते हुए घुमावदार सड़क से गुजरता है। घुमावदार रास्ते के दोनों ओर हरे-भरे वृक्ष, बड़े-बड़े चट्टाने और खाई रोमांच का एहसास कराते हैं। राज्य सरकार द्वारा पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए साल 2012 से मैनपाट में महोत्सव का आयोजन हर साल किया जा रहा है।









यह भी पढ़ें:- राष्ट्रीय जनजाति पर्व ‘आदि महोत्सव’ का आयोजन, दिल्लीवासियों को भा रहा चापड़ा चटनी





महोत्सव में पर्यटकों के लिए मेला, एडवेंचर स्पोर्ट्स और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। इस साल भी 12 से 14 फरवरी तक 3 दिवसीय मैनपाट महोत्सव का आयोजन रोपाखार जलाशय के पास किया जा रहा है, जिसमें कैलाश खेर, अनुज शर्मा, खेसारी लाल, अक्षरा सिंह, काजल राघवानी जैसे प्रसिद्ध कलाकारों के साथ ही स्थानीय कलाकारों और लोक कलाकारों के द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी जाएगी। इसके ही साथ मेला, विभागीय स्टॉल, फूडजोन, एडवेंचर स्पोर्ट्स का भी आकर्षण रहेगा।





10 फरवरी को अरपा महोत्सव में शामिल होंगे मुख्यमंत्री





मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 10 फरवरी को गौरेला-पेंड्रा-मरवाही स्थित मल्टीपरपज स्कूल मैदान में आयोजित 'अरपा महोत्सव' कार्यक्रम में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री बघेल 10 फरवरी को दोपहर 12 बजे पुलिस ग्राउंड रायपुर से हेलीकॉप्टर द्वारा प्रस्थान कर दोपहर 12.45 बजे पेंड्रा पहुंचेंगे, जहां CM मल्टीपरपज स्कूल मैदान में दोपहर 12.55 बजे से आयोजित अरपा महोत्सव में शामिल होंगे। मुख्यमंत्री शाम 4.25 बजे वापस रायपुर लौट जाएंगे।


Don't Miss
© Media24Media | All Rights Reserved | Infowt Information Web Technologies.