Responsive Ad Slot

Latest

latest
lockdown news

महासमुंद की खबरें

महासमुंद की खबर

रायगढ़ की ख़बरें

raigarh news

दुर्ग की ख़बरें

durg news

जम्मू कश्मीर की ख़बरें

jammu and kashmir news

VIDEO

Videos
top news


 

बिजली पोल से टकराई बाइक, 2 लोगों की मौत

No comments

बिहार में सड़क हादसे नहीं थम रहे हैं। नवादा जिले के काशीचक थाना इलाके में हुए सड़क हादसे में दो युवकों की मौत हो गई है। दरअसल, युवकों की बाइक काशीचक-सुभानपुर मुख्य पथ पर पावर हाउस के पास विद्युत पोल से टकरा गई, जिससे दोनों की मौके पर ही जान चली गई। जानकारी के मुताबिक बाइक सवार तेज रफ्तार में था, जिसने पोल को टक्कर मार दिया। टक्कर लगने के कारण बाइक पर सवार दोनों युवक गंभीर रूप से घायल हो गए। इसके बाद दोनों की मौत हो गई। 

दोनों मृतक युवक की पहचान भट्टा ग्रामीण रिजवान अंसारी और धन्नजय कुमार 20 साल के रूप में हुई। घटना की सूचना पाकर काशीचक थाना के एस आई शंभू प्रसाद दलबल के साथ पहंचे और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल नवादा भेज दिया। स्थानीय लोगों ने बताया कि दोनों बाइक पर जा रहे थे। उसी दौरान अचानक संतुलन खो जाने के कारण बिजली के खंभे में टकरा गए थे। जिसमें दोनों की हालत काफी गंभीर थी लोगों की मदद से अस्पताल लाने की कोशिश की जा रही थी लेकिन घटनास्थल पर ही दोनों की मौत हो गई। 

रफ्तार ने ली जान

मौत की जानकारी मिलते ही गांव में कोहराम मच गया है। परिजन ने कहा कि काशीचक से भट्टा की ओर जा रहे थे उसी दौरान या दुर्घटना हुई है। पावर ग्रिड के बाद पोल में जाकर सीधा बाइक टकरा गया, जिसमें दोनों की दर्दनाक मौत हो गई। तेज रफ्तार रहने के कारण बिजली के खंभे में टकराते हैं। स्थानीय लोगों के द्वारा कहा गया कि तेज रफ्तार में रहने के कारण ही युवक की दर्दनाक मौत हुई है। इस मामले पर थाना प्रभारी ने कहा कि जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंचकर युवक के शव को बरामद किया गया है। पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

अनियंत्रित होकर पलटी यात्रियों से भरी बस, 25 लोग घायल

No comments

देश में सड़क दुर्घटना (Road accident increased in india) लगातार बढ़ता ही जा रहा है। ताजा मामला जम्मू-कश्मीर के उधमपुर जिले के बट्‌टल बालियान इलाके का है, जहां एक बस के पलटने से 25 लोग घायल हो गए। बस जम्मू से डोडा जा रही थी। घायलों को उधमपुर में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जबकि 6 लोगों को जम्मू के सरकारी अस्पताल में रेफर किया गया है।  

इससे पहले शुक्रवार को सेना की बस श्योक नदी में गिरने से 7 जवानों की मौत हो गई थी। दरअसल, 27 मई को लद्दाख के तुर्तक सेक्टर में सेना की बस श्योक नदी में गिर गई। हादसे में 7 जवानों की मौत हो गई थी। जबकि 19 जवान घायल हैं, जिनका इलाज चल रहा है। इंडियन आर्मी के मुताबिक 26 सैनिकों की टुकड़ी परतापुर से लेह जिले के हनीफ सब सेक्टर के फॉरवर्ड पोस्ट पर जा रही थी।

हादसा थोइसे से करीब 25 किलोमीटर दूर हुआ है, जहां सेना की बस अनियंत्रित होकर श्योक नदी में जा गिरा। घायल 26 जवानों को वहां से निकालकर चंडीमंदिर कमांड अस्पताल ले जाया गया, जहां गंभीर चोटों की वजह से 7 सैनिकों की मौत हो गई। भारतीय सेना ने कहा कि 'हम हादसे में घायल सभी जवानों को सर्वोत्तम चिकित्सा मदद दिलाने की हर संभव कोशिश कर रहे हैं, जिससे हादसे में घायल जवान जल्द स्वस्थ हो सकें।

नियमों की अनदेखी से बढ़ रहा सड़क हादसा

भारत में सुरक्षित यात्रा करने के लिए भारत सरकार ने लोगों की जीवन सुरक्षा के लिए यातायात के नियम ( Traffic rules) बनाए हैं, जिन नियमों का पालन करना हर भारतीय का परम कर्तव्य है, लेकिन वर्तमान समय में सड़क दुर्घटनाओं में बेतहाशा वृद्धि इन्हीं यातायात के नियम की अनदेखी के कारण हुआ है।

जवानों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, 2 आतंकी ढेर, गोला-बारूद भी बरामद

No comments

जम्मू और कश्मीर  (Jammu & Kashmir) में लगातार आतंकी मुठभेड़ हो रहे हैं। इसी बीच अनंतनाग के शितिपोरा में फिर सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई, जिसमें जवानों 2 आतंकियों को मार गिराया है। कश्मीर पुलिस ने बताया कि आतंकियों के पास से हथियार और गोला-बारूद भी बरामद हुआ है। अभी इलाके में सर्च ऑपरेशन चल रहा है। IG पुलिस विजय कुमार ने बताया कि मारे गए आतंकियों की पहचान इश्फाक अहमद गनी निवासी चकवांगुंड, अनंतनाग और यावर अयूब डार, निवासी डोगरीपोरा अवंतीपोरा के रूप में हुई है। ये दोनों आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के सदस्य थे। दोनों कई वारदातों में शामिल थे।

 

बता दें कि घाटी में आतंकी घटनाएं ज्यादा बढ़ गई है। इसी बीच सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली थी। कुपवाड़ा में घुसपैठ की कोशिश कर रहे 3 आतंकियों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया था। सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारे गए ये तीनों आतंकी लश्कर-ए-तैयबा के थे। कुपवाड़ा के जुमागुंड गांव में आतंकवादियों की ओर से घुसपैठ के प्रयास की विशेष सूचना मिलने के बाद पुलिस ने अभियान शुरू किया था, जिसमें तीन आतंकी मारे गए। कश्मीर जोन पुलिस ने बताया था कि जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में गुरुवार सुबह हुई एक मुठभेड़ में पाकिस्तान स्थित संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े तीन आतंकवादियों को ढेर कर दिया गया।

भारत में घुसपैठ कर रहे 4 गिरफ्तार

इधर, पश्चिम बंगाल के 24-परगना जिले में अवैध तरीके से इंटरनेशनल बॉर्डर पार करके आने वाले बांग्लादेशी नागरिकों को BSF ने गिरफ्तार कर लिया। सभी ने भारत में घुसने की कोशिश कर रहे थे। हालांकि सद्भाभावना और अच्छे रिश्तों के लिए उन्हें बांग्लादेश को वापस सौंप दिया गया है।

सुरक्षाबलों से साथ मुठभेड़ में 2 आतंकी ढेर 

वहीं जम्मू और कश्मीर के कुलगाम के चेयन देवसर इलाके में 8 मई को जवानों ने 2 आतंकियों को मार गिराया था। साथ ही उनके पास से हथियार और गोला-बारूद भी बरामद किया गया था। पुलिस ने जैश-ए-मोहम्मद के दो से तीन आतंकी छिपे होने की आशंका जाहिर की थी। ये सेना और पुलिस का संयुक्त ऑपरेशन था। कश्मीर के IGP विजय कुमार ने बताया कि शनिवार रात में SSP कुलगाम को खबर मिली थी कि एक गांव में लश्कर-ए-तैयबा के 2 आतंकवादी छिपे हैं, जिसके बाद सुरक्षाबलों ने इलाके का घेराव किया। सर्च ऑपरेशन के दौरान आतंकियों ने सुरक्षाबलों की तरफ फायरिंग शुरू की, इसके बाद मुठभेड़ शुरू हुई। कई घंटे तक चली इस मुठभेड़ के बाद आतंकी मारे गए। 

किसान की शिकायत पर मुख्यमंत्री ने की तुरंत कार्रवाई

No comments

रायपुर. छत्तीसगढ़ के किसानों की समृद्धि से ही राज्य की समृद्धि है, और किसानों को ही परेशानी हो तो फिर राज्य का क्या होगा. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल इस बात को बेहतर जानते हैं, तभी तो किसानों की समस्याओं को वो काफी गंभीरता से लेते हैं।







केशकाल विधानसभा के बड़ेडोंगर में भेंट मुलाकात कार्यक्रम के दौरान रती नेताम नाम के किसान ने बताया कि उनके गांव में सिंचाई के लिए बना स्टाप डैम खराब गुणवत्ता का था जो दो साल में ही टूट गया। किसान रती ने मुख्यमंत्री को बताया इससे लगभग 600 किसानों का नुकसान हो रहा है।

किसान की समस्या पर तत्काल एक्शन लेते हुए मुख्यमंत्री ने जुगानी गांव में बने जुगानी भवरदीग नदी के स्टापडैम के टूटने के कारणों की जांच के आदेश दिए, मुख्यमंत्री ने किसानों के हितों को नुकसान ना होने देने की बात कहते हुए गांव में नए स्टाप डैम के निर्माण की भी घोषणा कर दी है।

नरवा ने बदल दी सरकारी नौकरी की चाह, BSC पास कुरसो के खेत में लहलहा रही मिर्च की फसल

No comments

मिर्ची औरों के लिए तीखी होती होगी, लेकिन मेरे लिए तो बहुत मीठी है। पिछले 6 महीने में मिर्च बेचकर 4 लाख रुपए कमाए हैं। मेरे खेत में पूरी सिंचाई नरवा (नाला) से ही हो रही है। कोंडागांव जिले में बड़े कनेरा गांव के किसान कुरसो लाल अपने खेत की तरफ इशारा करते हुए कहते हैं कि आप खुद देखिए मेरे खेत में मिर्च की लहलहाती हुई फसल। कुरसो लाल के खेत के पास से ही मार्कण्डेय नाला गुजरता है, जिसमें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप नरवा विकास कार्यक्रम के तहत जल संरक्षण के लिए नाले में ब्रश वुड चेक डेम, लूज बोल्डर चेक डेम, गेबियन संरचना, परकोलेशन टैंक का निर्माण किया गया है। 

कुरसो लाल बताते हैं कि खेत के बगल में ही नरवा है। जिसमें नरवा विकास कार्यक्रम के तहत कार्य किया गया है, इस वजह से नाले में अब साल भर पानी का भराव रहता है। वहां से पंप के जरिए खेत तक पानी लाते हैं और ड्रिप इरिगेशन करते हैं। आम तौर पर पढ़ाई लिखाई करने के बाद युवाओं में सरकारी नौकरी की चाह होती है। कुछ ऐसा ही कुरसो लाल के मन में भी था, लेकिन नरवा योजना ने उनका मन और किस्मत दोनों को बदल दिया। कुरसो लाल ने बताया कि BSC बायोलॉजी करने के बाद कुछ दिन नौकरी के लिए कोशिश की, लेकिन फिर देखा कि खेत के बगल में ही नाला है और पड़ोसी भी अच्छी फसल ले रहे हैं तो क्यों नहीं सरकार की नरवा योजना के तहत लाभ उठाया जाए। 

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की विशेष पहल पर राज्य में संचालित सुराजी गांव योजना के नरवा विकास कार्यक्रम के तहत राज्य में बरसाती नालों का उपचार करके वर्षा जल के रोकथाम तथा भू-जल संवर्धन को बेहतर बनाने का काम किया जा रहा है। इसके तहत अब तक राज्य के मैदानी और वनांचल में लगभग 9 हजार नालों का उपचार करके विभिन्न प्रकार की संरचनाएं बनाई गई है। आगामी 2 सालों में लगभग 21 हजार सालों का उपचार किया जाने का लक्ष्य है। जिन-जिन इलाकों में जहां नालों का उपचार किया गया है, उसमें अब साल भर पानी का भराव तक रहने लगा है, जिसका लाभ नाले के किनारे के स्थित किसान उठाकर दोहरी और नगदी फसल उपजाने लगे हैं। 

कर्ज माफी का भी मिला लाभ

नालों का उपचार होने से संबंधित इलाकों के भूजल स्तर में वृद्धि हुई है। हैंडपंप और कुओं के पानी का जल स्तर ऊपर उठा है। कुरसो लाल अपने दो एकड़ खेत मे धान की फसल भी लेते हैं। पिछले साल धान बेचकर 65 हजार रुपये और बोनस भी मिला है। वे बताते हैं कि मुख्यमंत्री के वादे के अनुसार उनका 65 हजार का कर्जा भी माफ हुआ था। कुरसोलाल बताते हैं कि वे रासायनिक खाद का नहीं बल्कि घर में 16 गाय-भैंस हैं, जिनके गोबर से वे ऑर्गेनिक खाद बनाते हैं और उसे ही खेत मे उपयोग करते हैं।

अवैध परिवहन में लगे हाइवा, ट्रैक्टर समेत 21 वाहन और अवैध भंडारित रेत जब्त

No comments

जांजगीर-चांपा कलेक्टर जितेंद्र कुमार शुक्ला के मार्गदर्शन और खनिज अधिकारी  रमाकांत सोनी के निर्देशन में जिला खनिज उड़नदस्ता दल ने जांजगीर, पेंड्री, खोखरा, अकलतरा, पामगढ़, शिवरीनारायण क्षेत्र में दबिश दी। साथ ही खनिज परिवहन कर रहे वाहनों की सघन जांच की। इस दौरान रेत से भरे हाइवा, ट्रैक्टर को जब्त किया गया है।

खनिज अधिकारी सोनी ने बताया कि जांच टीम द्वारा पाया गया कि गौण खनिज निम्न श्रेणी चूना पत्थर (गिट्टी), रेत, मिट्टी (ईंट) का अवैध परिवहन किया जा रहा था। जांजगीर-पेंड्री क्षेत्र में 4 हाइवा रेत, 6 ट्रैक्टर रेत को जब्त कर कलेक्ट्रेट परिसर में रखा गया है। पामगढ़ क्षेत्र में 2 हाइवा रेत, 1 हाइवा गिट्टी, 1 ट्रैक्टर रेत ,1 ट्रैक्टर मिट्टी (ईंट) को जब्त कर सुरक्षार्थ पुलिस थाना पामगढ़ मे रखा गया है। इसी तरह शिवरीनारायण क्षेत्र मे 1 हाइवा रेत, 2 ट्रैक्टर रेत, 2 ट्रैक्टर बोल्डर, 1 ट्रैक्टर मिट्टी (ईंट) जब्त कर पुलिस थाना शिवरीनारायण मे सुरक्षार्थ रखा गया है। 

21 वाहनों के खिलाफ कार्रवाई 

इस तरह कुल 21 वाहनों पर कार्रवाई की गई है। सभी वाहन मालिकों के खिलाफ छत्तीसगढ़ गौण खनिज नियम और खनिज अधिनियम के तहत केस दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। कार्रवाई में खनि निरीक्षक आदित्य मानकर, निरीक्षक पी डी जाड़े, खनिज सिपाही संजीव थवाईत,सावंत सूर्यवंशी और स्टाफ शामिल थे। खनिज अधिकारी ने बताया कि जिले में खनिज उड़नदस्ता की कार्रवाई लगातार जारी रहेगी।

तहसीलदार ने जब्त की भंडारित अवैध रेत  

वहीं बलरामपुर अनुविभागीय अधिकारी राजस्व के निर्देशानुसार रामचंद्रपुर तहसीलदार तोष कुमार सिंह द्वारा त्रिशुली गांव लगभग 1 लाख 5 हजार मीट्रिक टन अवैध रेत भंडारित पाए जाने पर रेत को जब्त कर सुरक्षार्थ थाना प्रभारी सनावल को सौंपा गया है। साथ ही अग्रिम कार्रवाई के लिए प्रतिवेदन खनिज अधिकारी बलरामपुर को भेज दिया गया है।

महिला बाल विकास मंत्री भेंड़िया केरल में महिला विधायकों के राष्ट्रीय सम्मेलन में हुईं शामिल

No comments

छत्तीसगढ़ की महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेंड़िया केरल की राजधानी तिरूवनंतपुरम में आयोजित महिला विधायकों के दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन में शामिल हुईं। केरल विधानमंडल की ओर से देश की आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आजादी का अमृत महोत्सव के तहत 26 और 27 मई को देश के महिला विधायकों का राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित किया गया है। 

सम्मेलन में महिला सशक्तिकरण, संविधान और महिला अधिकार, निर्णय लेने वाले निकायों में महिलाओं के प्रतिनिधित्व और लोकतंत्र की शक्ति जैसे विषयों पर विचार मंथन किया गया। राष्ट्रीय महिला विधायक सम्मेलन में छत्तीसगढ़ से धरसींवा विधायक अनिता योगेन्द्र शर्मा, संजारी बालोद विधायक संगीता सिन्हा और कसडोल विधायक  शकुंतला साहू, तखतपुर विधायक रश्मि आशिष सिंह, बैकुण्ठपुर विधायक अंबिका सिंह देव, पंडरिया विधायक ममता चंद्राकर सहित कई विधायक शामिल हुईं। 

सम्मेलन में केंद्र शासित प्रदेशों के साथ-साथ केरल विधानसभा, संसद के दोनों सदनों, राज्य विधानमंडलों, राज्य परिषदों, राष्ट्रीय ख्याति और महत्व की प्रतिष्ठित हस्तियों और निर्वाचित महिला प्रतिनिधियों को साथ लाने का प्रयास किया गया है।  

© Media24Media | All Rights Reserved | Infowt Information Web Technologies.