Responsive Ad Slot

Latest

latest
lockdown news

महासमुंद की खबरें

महासमुंद की खबर

रायगढ़ की ख़बरें

raigarh news

दुर्ग की ख़बरें

durg news

जम्मू कश्मीर की ख़बरें

jammu and kashmir news

VIDEO

Videos
top news


 

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और शास्त्री जी को कृतज्ञ राष्ट्र का नमन

No comments

नई दिल्ली। देश राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री की जयंती पर उन्हें अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि अमृतकाल में गांधी जयंती का महत्व और बढ़ गया है। उन्होंने कहा कि हमें बापू के आदर्शों के अनुरुप रहना चाहिए। प्रधानमंत्री ने जनता से अपील की है कि वे खादी के कपडे़ और खादी उत्पाद खरीदें। यही गांधीजी के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। 



लाल बहादुर शास्त्री को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए मोदी ने कहा कि शास्त्री जी की सादगी और निर्णय क्षमता सदैव स्मरणीय रहेगी। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर सहित प्रदेशभर में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रायपुर स्थित अपने निवास कार्यालय से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी ‘‘महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना-रीपा‘‘ का शुभारंभ किया और विभिन्न जिलों में रूरल इंडस्ट्रियल पार्क के शिलान्यास कार्यक्रम में भी शामिल हुए। 

इस मौके पर उन्होंने कहा कि राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों के चयनित गौठानों को आजीविका केन्द्र के रूप में विकसित करने के लिए वहां महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क बनाए जा रहे हैं। प्रदेश के प्रत्येक विकासखंड में दो रूरल इंडस्ट्रियल पार्क बनाए जाएंगे। बघेल ने कहा कि पहले चरण में तीन सौ रूरल इंडस्ट्रियल पार्क विकसित किए जा रहे हैं। वहीं, मुख्यमंत्री रायपुर के शहीद स्मारक भवन में संस्कृति और पुरातत्व विभाग द्वारा ‘‘गांधी, युवा और नये भारत की चुनौतियां‘‘ विषय पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए। 

उन्होंने इस अवसर पर वाटर रिचार्जिंग के क्षेत्र में बेहतर काम करने वाले व्यक्ति और संस्था को ‘‘अनुपम मिश्र‘‘ पुरस्कार देने के साथ ही प्रसिद्ध रंगकर्मी ‘‘हबीब तनवीर‘‘ के नाम पर भी पुरस्कार देने की घोषणा की। छत्तीसगढ़ विधानसभा स्थित केंद्रीय कक्ष में विधानसभा अध्यक्ष डॉक्टर चरणदास महंत ने गांधी जी और शास्त्री जी के तैलचित्रों पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किया। इस मौके पर गांधी जी के प्रसिद्ध भजनों का गायन भी किया गया।

इस बीच, खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड गांधी भवन और केयूर भूषण स्मृति परिसर कंकाली पारा में आयोजित दो दिवसीय निबंध क्विज और तत्कालिक भाषण प्रतियोगिता का समापन हुआ। इस अवसर पर खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष राजेन्द्र तिवारी ने कहा कि गांधी जी की जितनी आवश्यकता आजादी के पहले थी, उतनी आवश्यकता आज भी है। उन्होंने कहा कि खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा गांधीजी की विचारधारा और सिद्धांतों को आगे बढ़ाने के लिए विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जा रहा है।

गांधी जयंती के मौके पर प्रदेश कांग्रेस द्वारा छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों और ब्लॉकों में आज भारत जोड़ो यात्रा निकाली गई। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम कोंडागांव में निकाली गई भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुए। इससे पहले, रायपुर स्थित प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की गई और कार्यकर्ताओं ने बापू के बताए सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलने की शपथ ली।वहीं, आज रायपुर के महापौर एजाज ढेबर ने शास्त्री बाजार में नागरिकों को कपड़े की थैलियां बांटी और पॉलिथिन का दैनिक जीवन में त्याग करने की अपील की। 

उधर, बिलासपुर सहित दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के सभी प्रमुख स्टेशनों में भी विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस दौरान अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा स्वच्छता अभियान चलाया गया। साथ ही स्टेशनों और प्रमुख स्थानों पर रैली निकालकर गांधी जी के स्वच्छ भारत के संदेश को अपनाने की अपील की गई। अपर महाप्रबंधक विजय प्रताप सिंह और मंडल रेल प्रबंधक आलोक सहाय भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए।

सेवा ग्राम स्थित बापू कुटी का भ्रमण

छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसुईया उइके ने अपने वर्धा प्रवास के दौरान आज सेवा ग्राम स्थित बापू कुटी का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने सेवा ग्राम परिसर के साथ ही गांधीजी के जीवन दर्शन से जुड़े विभिन्न स्थानों का अवलोकन किया। राज्यपाल ने वहां उपस्थित लोगों को गांधी जयंती की शुभकामनाएं दी और सेवा ग्राम तथा गांधी जी विषय में अपने विचार साझा किए। उन्होंने बापू की कुटिया के भ्रमण को अपनी जीवन का महत्वपूर्ण और गौरवमयी दिन बताया। उन्होंने देशवासियों से गांधी जी के दर्शन और संदेश को अपनाने का आग्रह किया।

अंततः हटाए गए महासमुन्द के SDM जायसवाल, मुख्य सचिव के हस्तक्षेप से हटे

No comments

महासमुन्द। अतिवादी प्रशासनिक व्यवस्था के पर्याय बन चुके महासमुन्द एसडीएम भागवत प्रसाद जायसवाल को अंततः आज हटा दिया गया। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मुख्य सचिव की फटकार के बाद SDM महासमुन्द से कार्यमुक्त किए गए। सामान्य प्रशासन विभाग के सचिव की नोटिस का जवाब नहीं देने शासन के आदेश की अवज्ञा करने के लिए निलंबित भी किया जा सकता है। बताया जाता है कि निलंबन की तलवार लटक रही है। जिसे महासमुन्द के एक 'तिलकधारी' ने संरक्षित कर रखा है। 

भागवत प्रसाद जायसवाल

इधर, कलेक्टर क्षीरसागर ने शासकीय कार्यों के सुचारू सम्पादन को दृष्टिगत रखते हुए संयुक्त कलेक्टर एवं वर्तमान अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) पिथौरा  राकेश कुमार गोलछा को आगामी आदेश पर्यन्त अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) महासमुंद का सम्पूर्ण प्रभार सौंपा है। इसी प्रकार डिप्टी कलेक्टर एवं अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) बागबाहरा  उमेश कुमार साहू को आगामी आदेश पर्यन्त अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) पिथौरा का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है।


यह भी पढ़ें:- हटाए गए महासमुन्द के एडीएम और एसडीएम, एकतरफा रिलीव करने का आदेश जारी https://www.media24media.com/2022/08/ADM-and-SDM-of-Mahasamund-removed-order-issued-to-relieve-unilaterally.html


कलेक्टर  निलेशकुमार ने अपर कलेक्टर एवं डिप्टी कलेक्टर के मध्य पूर्व में सौंपे गए प्रभार में भी संशोधन करते हुए आगामी आदेश पर्यन्त तक कार्य विभाजन कर प्रभार सौंपा है। इनमें अपर कलेक्टर दुर्गेश वर्मा को जिले के लिए अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी (एडीएम), कानून व्यवस्था संबंधी, जिले के विभिन्न आयोजन, समारोह के संबंध में प्रभारी व समन्वयक, जिले के सभी अनुविभाग के लिए राजस्व कार्यों के समन्वय एवं नियंत्रण अधिकारी, शिक्षा विभाग एवं अन्य विभाग (कलेक्टर के सीधे नियंत्रण में है) के नियुक्ति एवं पदोन्नति संबंधी प्रकरण, जिला कार्यालय के विभिन्न  शाखाओं के लिये प्रभारी अधिकारी वरिष्ठ लिपिक शाखा-01 आवास आबंटन सहित, वरिष्ठ लिपिक शाखा-02, जिला शहरी विकास अभिकरण (डूडा) एवं नगरीय निकाय से संबंधित, विभिन्न स्तर से कार्यालय को प्राप्त होने वाले समस्त डाक की मार्किंग के लिए प्रभारी अधिकारी, जिला खनिज संस्थान न्यास (डी.एम.एफ) एवं सी.एस.आर मद अंतर्गत समस्त कार्य, वित्त स्थापना शाखा, एस.डब्ल्यू. शाखा, लाइसेंस शाखा, जिला विवाह अधिकारी, जिला पासपोर्ट सेल, मानव अधिकार आयोग एवं सभी संवैधानिक आयोग से संबंधित शाखा, जेल निरीक्षण, जिला विभागीय जाँच अधिकारी, भू-अर्जन, भू-बंटन, ई-प्रशासन अंतर्गत सॉफ्टवेयर का क्रियान्वयन, ई-डिस्ट्रिक्ट, लोक सेवा केन्द्र तथा निम्न विभागों के प्रभारी अधिकारी मेडिकल कॉलेज महासमुन्द के संबंध में समस्त कार्य, जिला अस्पताल एवं स्वास्थ्य, परिवार कल्याण विभाग, खनिज विभाग, आदिवासी विकास विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, समाज कल्याण विभाग, निःशक्त कल्याण एवं पुनर्वास, जिला नवाचार निधि योजना, परिवहन विभाग, जिला पंजीयक, जिला कोषालय, जिला उद्योग एवं व्यापार केन्द्र, लोक निर्माण विभाग, नगर सेना, फुड एण्ड ड्रग कंट्रोल, नापतौल विभाग, नगर एवं ग्राम निवेश तथा कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी महासमुंद द्वारा समय-समय पर सौंपे गए अन्य कार्य का प्रभार दिया गया है।

यह भी पढ़ें:- शासन के आदेश की अवहेलना, एसडीएम पर लटकी निलंबन की तलवार ! https://www.media24media.com/2022/09/Disobeying-the-order-of-the-government-the-sword-of-suspension-hanging-on-the-SDM.html

इसी प्रकार डिप्टी कलेक्टर एस.के. टंडन को भू-अभिलेख शाखा (आहरण संवितरण सहित कलेक्टर को प्रस्तुत की जाने वाली नस्तियां अपर कलेक्टर के माध्यम से प्रस्तुत की जायेगी), नजूल शाखा (कलेक्टर को प्रस्तुत की जाने वाली नस्तियां अपर कलेक्टर के माध्यम से प्रस्तुत की जायेगी), तकाबी शाखा, अधिक अन्न उपजाओ शाखा, सहायक अधीक्षक ( राजस्व/समान्य), राजस्व मोहर्रिर शाखा, प्रतिलिपि शाखा, नाजरात शाखा (आहरण संवितरण सहित), अभिलेखागार (हिन्दी/अंग्रेजी) तथा कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी महासमुंद द्वारा समय-समय पर सौंपे गये अन्य कार्य के लिए प्रभारी अधिकारी बनाए गए हैं।


डिप्टी कलेक्टर श्रीमती ऋतु हेमनानी को उप जिला निर्वाचन अधिकारी, सामान्य एवं स्थानीय निर्वाचन (आहरण एवं संवितरण सहित कलेक्टर को प्रस्तुत की जाने वाली नस्तियां अपर कलेक्टर के माध्यम से प्रस्तुत की जायेगी), उप संचालक पंचायत की नस्तियां, जिला कार्यालय के निम्न शाखाओं के लिये प्रभारी अधिकारी, लोक सेवा गारंटी, जनगणना (नस्तियां अपर कलेक्टर के माध्यम से प्रस्तुत की जायेगी), 20 सूत्रीय शाखा, आवक-जावक, पुस्तकालय शाखा, प्रपत्र शाखा विकास शाखा, अभिलेख एवं प्रमाण-पत्रों का सत्यापन, समय सीमा के तहत दर्ज आवेदन पत्रों, प्रकरणों के लिए प्रभारी अधिकारी (नस्तियां अपर कलेक्टर के माध्यम से प्रस्तुत की जायेगी) देवस्थानम, अल्प बचत शाखा, भाड़ा नियंत्रण, जिला शहरी विकास अभिकरण (डूडा) एवं नगरीय निकाय से संबंधित, अभियोजन शाखा, शिकायत एवं जन शिकायत निवारण प्रकोष्ठ, नोडल अधिकारी (शासन की फ्लेगशिप स्कीम) स्वामी आत्मानंद स्कूल, राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर योजना, अन्य पिछड़ा वर्ग एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग का सर्वेक्षण, आयुष्मान कार्ड, चिटफंड तथा कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी महासमुंद द्वारा समय-समय पर सौंपे गये अन्य कार्य।


डिप्टी कलेक्टर सुश्री नेहा भेड़िया को राजस्व लेखा, राहत शाखा (राजस्व पुस्तक परिपत्र से संबंधित व सोलेशियम फंड) सूचना का अधिकार प्रकोष्ठ एवं जन सूचना अधिकारी, सत्कार शाखा, लोक आयोग के प्रकरणों का निराकरण, पुरातत्व शाखा, वाचक, कलेक्टर न्यायालय तथा कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी महासमुंद द्वारा समय-समय पर सौंपे गये अन्य कार्य का प्रभार दिया गया है।

सीएम बिलासपुर-इंदौर-बिलासपुर विमान सेवा का 3 अक्टूबर को करेंगे वर्चुअल शुभारंभ

No comments

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 3 अक्टूबर को अपने निवास कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में बिलासा देवी केवट हवाई अड्डा, बिलासपुर (चकरभाठा) से बिलासपुर-इंदौर-बिलासपुर विमान सेवा का वर्चुअल शुभारंभ करेंगे। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, छत्तीसगढ़ के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री तथा बिलासपुर के प्रभारी मंत्री जयसिंह अग्रवाल, मध्यप्रदेश शासन के जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट करेंगे। विमान सेवा का शुभारंभ 3 अक्टूबर को प्रातः 10.45 बजे बिलासा देवी केवट हवाई अड्डा, बिलासपुर (चकरभाठा) से होगा।



कार्यक्रम में संसदीय सचिव डॉ. रश्मि सिंह, सांसद बिलासपुर अरूण साव, सांसद इंदौर शंकर लालवानी, विधायक धरमलाल कौशिक, शैलेष पाण्डेय, डॉ. रेणु जोगी, डॉ. कृष्णमूर्ति बांधी एवं रजनीश सिंह, महापौर रामशरण यादव, जिला पंचायत अध्यक्ष अरूण चौहान, अपेक्स बैंक के अध्यक्ष बैजनाथ चंद्राकर, पर्यटन मंडल के अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष प्रमोद नायक, कृषि उपज मंडी बोर्ड के अध्यक्ष राजेन्द्र शुक्ला, जनपद अध्यक्ष बिल्हा श्रीमती राधिका जितेन्द्र जोगी एवं नगर पंचायत बोदरी के अध्यक्ष परदेशी ध्रुवंशी विशिष्ट अतिथि होंगे।

गौरतलब है कि राज्य शासन द्वारा 41 करोड़ रूपए की लागत से बिलासपुर एयरपोर्ट का विकास 3 सीव्हीएफआर श्रेणी में करके डीजीसीए से लायसेंस प्राप्त किया गया है। बिलासपुर एयरपोर्ट से 01 मार्च 2021 से 72 सीटर नियमित घरेलू विमान सेवा का संचालन दिल्ली-जबलपुर-बिलासपुर-प्रयागराज सेक्टर के लिए किया जा रहा है। इस एयरपोर्ट से बिलासपुर-भोपाल के लिए नियमित विमान सेवा प्रारंभ हो रही है। बिलासपुर एयरपोर्ट को 4 सीव्हीएफआर श्रेणी में करने की योजना पर कार्य जारी है।

महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना से ग्रामीण क्षेत्रों में उद्यम और स्वावलंबन को मिलेगा बढ़ावा : सीएम

No comments

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जयंती के अवसर पर मुख्यमंत्री निवास रायपुर में आयोजित समारोह में छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी ‘‘महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना‘‘ का वर्चुअल शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादूर शास्त्री एवं छत्तीसगढ़ महतारी के तैलचित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरा देश और मानव समाज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री का सदैव ऋणी रहेगा।



मुख्यमंत्री बघेल ने महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना को छत्तीसगढ़ के ग्रामीण स्वावलंबन के लिए ऐतिहासिक एवं क्रांतिकारी योजना बताया। मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे गांव में रोजगार और उद्यम को बढ़ावा मिलेगा। ग्रामीण आत्मनिर्भर और स्वावलंबी बनेंगे। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के 10 गौठानों में महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क के निर्माण कार्य का वर्चुअल शिलान्यास भी किया और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बलौदाबाजार विकासखंड के अंतर्गत ग्राम लटुवा के गौठान में बारदाना एवं मिट्टी के बर्तन बनानें वाली महिला स्व सहायता समूहों के सदस्यों से बातचीत कर उनका हौसला बढ़ाया एवं उनके कार्याे की प्रशंसा की।

इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में खनिज विकास निगम के अध्यक्ष गिरीश देवांगन, जिला पंचायत अध्यक्ष राकेश वर्मा, कृषक कल्याण परिषद अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा, विद्याभूषण शुक्ला, जिला अध्यक्ष हितेंद्र ठाकुर जनपद पंचायत अध्यक्ष सुमन योगेश वर्मा, जिला पंचायत सदस्य रमेश धृतलहरे, जिला पंचायत सीईओ गोपाल वर्मा,अतिरिक्त जिला पंचायत सीईओ हरिशंकर चौहान, सरपंच महेश्वरी दीपक साहू अन्य जनप्रतिनिधिगण व सम्बंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

उल्लेखनीय है कि बलौदाबाजार-भाटापारा जिले में रीपा योजना के अंतर्गत पहले चरण में सभी पॉचों विकासखण्डों के 02-02 गौठान में 02-02 करोड़ रूपए की लागत से जिले में कुल 10 ग्रामीण औद्योगिक पार्क का निर्माण किया जाएगा। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए खनिज विकास निगम के अध्यक्ष गिरीश देवांगन ने कहा कि भारत की आत्मा गॉव में बसती है। आज ‘‘महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना‘‘ के माध्यम से गॉव को आत्मनिर्भर बनाने की परिकल्पना साकार होने जा रही है। देवांगन ने ‘‘महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना‘‘ को राज्य शासन की अत्यंत महत्वाकांक्षी योजना बताते हुए इसके उद्देश्यों के संबंध में जानकारी दी। 

उन्होंने कहा कि इस योजना का उद्देश्य बहुत ही दूरगामी एवं व्यापक है। देवांगन ने सभी जनप्रतिनिधियों को इस योजना को धरातल पर सफल क्रियान्वयन सुनिश्चित करने हेतु सक्रिय भागीदारी निभाने की अपील की। कृषक कल्याण परिषद अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा ने जैविक खेती के बढ़ते प्रभाव के फायदे एवं स्वरोजगार के महत्व के बारे में विस्तृत जानकारी दी। जिला पंचायत अध्यक्ष ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा ग्रामीणों को रोजगार दिलाकर हमारे गॉव को स्वावलंबी एवं आत्मनिर्भर बनाने का अभिनव कार्य किया जा रहा है। 

इस अवसर पर कलेक्टर जिला पंचायत सीईओ गोपाल वर्मा ने महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना‘‘ के महत्व एवं उद्देश्य के संबंध में जानकारी देते हुए इसके सफल क्रियान्वयन हेतु व्यवहारिक पहलुओं पर प्रकाश डाला। इस दौरान कार्यक्रम में उपस्थित जनप्रतिनिधियों ने भी रीपा योजना के सफल क्रियान्वयन हेतु अपना बहुमूल्य सुझाव दिए।

उल्लेखनीय है कि महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना का मूल उद्देश्य ग्रामीण गरीब परिवारों के लिए अतिरिक्त आय का साधन बनाना है। प्रथम चरण में विकासखण्ड बलौदाबाजार के गौठान ग्राम लटुवा, पनगांव, भाटापारा में गुडेलिया, कडार सिमगा में रोहरा, केसली, कसडोल में देवरीकला, मटिया, पलारी में हरिनभट्टा एवं गिर्रा के गौठान में ग्रामीण औद्योगिक पार्क का निर्माण किया जाएगा, जहां पर चयनित आयमूलक गतिविधियों को वृहद पैमाने पर शुरू किया जाएगा।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ‘गांधी, युवा और नये भारत की चुनौतियां’ विषय पर आयोजित कार्यक्रम में हुए शामिल

No comments

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल गांधी जयंती के अवसर पर आज शहीद स्मारक भवन में गांधी, युवा और नये भारत की चुनौतियांविषय पर संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए। इस अवसर पर उन्होंने वाटर रिचार्जिंग के क्षेत्र में बेहतर काम करने वाले व्यक्ति और संस्था को अनुपम मिश्र पुरस्कारदेने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में प्रसिद्ध रंगकर्मी हबीब तनवीरके नाम पर भी पुरुस्कार दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री और छत्तीसगढ़ महतारी के तैलचित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन कर कार्यक्रम की शुरुआत की। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस अवसर पर आशीष सिंह द्वारा लिखित पुस्तक सोनाखान 1857‘ और आमिर हाशमी द्वारा लिखित पुस्तक जोहार गांधीका विमोचन किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के सलाहकार प्रदीप शर्मा, विधायक देवेन्द्र यादव, संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग के सचिव अन्बलगन पी, संस्कृति विभाग के संचालक विवेक आचार्य सहित राजीव युवा मितान क्लब के लगभग साढ़े तीन हजार युवा सदस्य भी मौजूद थे।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आज का दिन गांधी जी और लाल बहादुर शास्त्री जी को याद करने का दिन है। महात्मा गांधी ने अपने जीवनकाल में जिन चीजों का प्रयोग किया गया, वह सभी वर्धा में स्थित मगन संग्रहालय में रखा गया है। उन्होंने चरखा, कृषि औजारों पर लगातार शोध करवाया। कार्यों को और उत्कृष्ट ढंग से करने के लिए प्रोत्साहन पूर्ण आयोजन उस समय गांधी जी ने करवाए। पूरी दुनिया में जितनी भी क्रांति हुई है, वह युवाओं से हुई है, अन्याय के विरुद्ध प्रतिशोध की भावना जागृत हुई, परिवर्तन की अलख जगी। गांधी जी ने स्वावलंबन, प्रेम, सत्य, अहिंसा का रास्ता दिखाया और आजादी दिलाई।

बघेल ने युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि गांधी जी ने वस्त्र इसलिए त्यागे क्योंकि उन्होंने हिन्दुस्तान की न्यूनतम आवश्यकताओं की परम्परा का निर्वहन किया। अगर आगे बढ़ना है तो हमें भी न्यूनतम आवश्यकताएं रखनी चाहिए। उन्होंने युवाओं से कहा कि अपना समय और ऊर्जा नये विचारों और कामों के लिए खर्च करें। गांधी जी चाहते थे युवा आत्मनिर्भर बनें, स्वावलंबी बनें, आगे बढ़ें, इन्हीं विचारों को लेकर गांधी जी भी आगे बढ़े।

उन्होंने कहा कि गांधी ने अहिंसा, सत्य और प्रेम से लड़ाई लड़ी। मेहनत और समर्पण से स्व-रोजगार गढ़कर स्वावलंबी बनना गांधी जी का रास्ता है। उन्होंने जरूरतमंद और पीड़ित मानवता की सेवा का रास्ता दिखाया। जीवन का अनुभव पुस्तक के ज्ञान पर भी भारी पड़ता। बघेल ने भेंट-मुलाकात के दौरान मिले बालोद के युवा किसान दिव्यांग धुर्वे का उदाहरण देकर युवाओं को स्वरोजगार के लिए प्रेरित किया और कहा कि मेहनत ही गांधी जी का बताया रास्ता है। उन्होंने कहा कि मेहनतकश स्व-सहायता समूहों की बहनों के चेहरे पर जो आत्मविश्वास का भाव है

वह हमारी सबसे बड़ी पूंजी है। मेहनत से आत्मविश्वास आता है, जिससे बड़ी से बड़ी लड़ाई जीती जा सकती है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आगे कहा कि गांधी जी ने कर्म और श्रम का सम्मान किया। वे किसानों के बीच जाकर खेतों में काम करते थे, चरखा चलाकर उन्होंने बुनकर का सम्मान किया। इसी तरह गांधी जी ने मेहनत और श्रम का सम्मान किया। श्रम के सम्मान से लाखों-करोड़ों लोग जुड़े और एकजुट होकर खड़े हुए, जिन्हें हराना मुश्किल था। 

हमें सामाजिक और आर्थिक रूप से आजादी प्राप्त करना अभी बाकी हैं। युवा हमारी ताकत हैं, युवा ऊर्जा को दिशा देने की जरूरत है। उन्हें अवसर देने के लिए सामूहिक और संगठित होकर प्रयास करने की जरूरत है। बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ ने स्वावलंबन और स्वरोजगार की दिशा में अपने कदम बढ़ाए हैं। राज्य सरकार ने गोबर, गोमूत्र की खरीदी शुरू की है, अब तक 20 लाख क्विंटल वर्मी कंपोस्ट हम बना चुके हैं। पूरे देश में सबसे ज्यादा 8,500 खाद बनाने की फैक्टरी हमारे यहां हैं।

इससे हमारा प्रदेश जैविक राज्य की ओर बढ़ रहा है। नौजवान जैविक कृषि से जुड़कर लाखों रुपए की आमदनी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में पर्यावरण संरक्षण की दिशा में भी कई काम हो रहे है। हमने वाटर रिचर्जिंग करना शुरु किया। हमने पराली जलाने से होने वाले प्रदूषण से बचने के लिए किसानो से पैरा दान की अपील की। इससे जल, जंगल, जमीन की उपयोगिता बढ़ी है।

प्रदीप शर्मा ने कहा कि युवा रहते हुए गांधी ने पूरे देश को सत्य और अहिंसा के एक मंत्र से बांध दिया था। युवा राजीव गांधी ने देश को इंफॉरमेशन टेक्नॉलोजी के क्षेत्र में अग्रणी बनाया। मुख्यमंत्री श्री बघेल इसी संकल्प को आगे बढ़ा रहे है। 22 साल के युवा छत्तीसगढ़ को आगे बढ़ाने के लिए नयी पीढ़ी संकल्पित होकर आगे बढ़ें। नई दिल्ली के डेवलपमेंट अल्टरनेटिव्स के अध्यक्ष अशोक खोसला ने कहा कि हम युवाओं के लिए कैसा भविष्य बना सकते हैं, यह गांधी हमें बताते हैं,

उनके विचारों पर अमल करके हम स्वावलंबी और एक आदर्श समाज की स्थापना कर सकते हैं। राजीव गांधी फाउंडेशन दिल्ली के निदेशक डॉ. विजय महाजन ने युवाओं को स्पोर्ट्स, स्वरोजगार, सद्भावना और संस्कृति के पुर्नउत्थान के लिए प्रेरित करते हुए जल, जंगल जमीन और संसाधनों को सहेजने की दिशा में क्रियान्वित योजनाओं के लिए छत्तीसगढ़ सरकार की प्रशंसा की। कार्यक्रम में लेफ्टिनेंट जनरल अरुण साहनी, सुश्री आईका चतुर्वेदी और डॉ. विभा गुप्ता ने भी अपनी बात रखी।

युवा बनें बलवान और किसानों को मिले आराम : अग्नि चंद्राकर

No comments

महासमुंद। केबिनेट मंत्री दर्जा प्राप्त छत्तीसगढ़ राज्य बीज एवं कृषि विकास निगम अध्यक्ष अग्नि चंद्राकर ने ग्राम रायतुम में कृषक विश्राम भवन और ओपन जिम के लिए 10 लाख रुपए देने की घोषणा की है। वे प्रगति क्लब रायतुम द्वारा आयोजित कबड्डी प्रतियोगिता के उद्घाटन समारोह को संबोधित कर रहे थे। क्षेत्र के किसानों और ग्रामीण युवाओं की मांग पर उक्त घोषणा करते हुए चंद्राकर ने कहा कि कृषक विश्राम भवन में किसानों को आराम मिले और जिम में कसरत कर हमारे युवा बलवान बनें।

   रायतुम में कृषक विश्राम भवन और ओपन जिम के लिए 10 लाख की घोषणा

साथ ही ध्यान रखें शक्ति और संसाधन का दुरुपयोग नहीं होना चाहिए। अपनी शक्ति को अनैतिक कार्यों में न लगाएं, जनहित के कार्यों में लगाएं। उन्होंने कहा, मैंने अपने लिए अभी अवैधानिक काम नहीं किया, लेकिन जनहित की बात आई तो पीछे नहीं रहा। वन होने के कारण इसी रायतुम में नहर नाली पहुंचाने के लिए जब शासन-प्रशासन ने हाथ खड़े कर दिए तब दूसरा रास्ता हमने अपनाया और रातों रात सारी अड़चनों को दूर कर नहर बनवा दी। आज गांव सिंचित है

और किसानों को इसका लाभ मिल रहा है। चंद्राकर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार छत्तीसगढ़िया स्वाभिमान और अस्मिता को पुनर्स्थापित करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। छत्तीसगढ़िया कला-संस्कृति के साथ-साथ परंपरारिक खेल-कूद को भी बढ़ावा दे रही है। 6 अक्तूबर से पहली बार छत्तीसगढ़िया ओलम्पिक का आयोजन होने जा रहा है। इसमें सब बढ़-चढ़कर भाग लें।

सभा को मध्य क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण के सदस्य मोहित ध्रुव व जिला पंचायत उपाध्यक्ष लक्ष्मण पटेल तथा युवा कांग्रेस नेता दिव्येश चंद्राकर ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में निगम अध्यक्ष के प्रतिनिधि नारायण नामदेव, धर्मेंद्र महोबिया, कांग्रेस नेता सोनू राज, जनपद सदस्य घासूराम दीवान, सरपंच भारती राकेश साहू, रमन सिंह ठाकुर, कलीराम साहू, ईश्वर ठाकुर, प्रमोद साहू, राकेश साहू, आयोजक क्लब के अध्यक्ष पिलउ निषाद, उपाध्यक्ष पवन पटेल, गोविंद साहू, भोलू निषाद सहित बड़ी संख्या में खिलाड़ी और ग्रामवासी उपस्थित थे।

महासमुन्द की बेटी की ऊंची उड़ान, नासा के प्रोजेक्ट के लिए चयन

No comments

महासमुंद। जिला मुख्यालय महासमुन्द में नयापारा के स्वामी आत्मानंद शासकीय इंग्लिश मीडियम स्कूल की कक्षा 11वीं की छात्रा रितिका ध्रुव का चयन नासा (National Aeronautics and Space Administration) के सिटीजन साईंस प्रोजेक्ट के अंतर्गत क्षुद्रग्रह खोज अभियान के लिए हुआ है। नासा का यह प्रोजेक्ट इसरो के साथ अंतर्राष्ट्रीय खगोलीय खोज सहयोग कार्यक्रम के अंतर्गत साझेदारी का हिस्सा है। सोसाइटी फॉर स्पेस एजुकेशन रिसर्च एंड डेवलपमेंट (एसएसईआरडी) ने क्षुद्र ग्रह खोज अभियान की प्रक्रिया के माध्यम से छात्रों को प्रोत्साहित करने कहा है।


 

इस प्रोजेक्ट के लिए देशभर से छह स्कूली विद्यार्थियों को चुना गया है। इसमें छत्तीसगढ़ के सिरपुर की रहने वाली और महासमुन्द स्थित स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल की छात्रा रितिका ध्रुव भी शामिल है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम  ने रितिका ध्रुव की इस उपलब्धि पर उन्हें बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। उल्लेखनीय है कि छात्रा रितिका ध्रुव बचपन से ही विज्ञान के प्रति रूचि रखती रही है। कक्षा 8वीं में रहने के दौरान उसने पहली बार अंतरिक्ष प्रश्नोत्तरी स्पर्धा में हिस्सा लिया था।

इसके बाद वे लगातार विज्ञान संबंधी गतिविधियों में प्रतिभागी बनती रही है। नासा के प्रोजेक्ट के लिए जब आवेदन आमंत्रित किया गया, तब निर्धारित प्रारूप में रितिका ने भी आवेदन करते हुए अपना प्रोजेक्ट रखा। चयन के स्तरों में पहले उन्होंने बिलासपुर में विषय संबंधी प्रश्नोत्तरी प्रतिस्पर्धा में हिस्सा लिया तो इसके बाद भिलाई स्थित आईआईटी में अपनी प्रस्तुति दी। फिर जाकर रितिका को इसरो के श्रीहरिकोटा (आंध्रप्रदेश) सेंटर में प्रशिक्षण के लिए आमंत्रित किया गया। इस प्रोजेक्ट में रितिका के साथ देश के छह अन्य स्कूली विद्यार्थियों का चयन हुआ है। 

जिनमें वोरा विघ्नेश (आंध्रप्रदेश), वेम्पति श्रीयेर (आंध्रप्रदेश), ओलविया जॉन (केरल), के. प्रणीता (महाराष्ट्र) और श्रेयस सिंह (महाराष्ट्र) शामिल हैं। इन विद्यार्थियों ने अंतरिक्ष के वैक्यूम में ब्लैक होल से ध्वनि की खोज विषय पर एक प्रस्तुति दी थी। इसमें स्वामी आत्मानंद शासकीय इंग्लिश मीडियम स्कूल नयापारा महासमुन्द की छात्रा रितिका ने ध्रुव अपनी टीम का प्रतिनिधित्व किया एवं बहुत अच्छा प्रदर्शन किया। जज पैनल में डॉ. बेलवर्ड (नासा), डॉ. जोनाथ (इसरो) और डॉ. ए. राजराजन (सतीश धवन अंतरिक्ष केन्द्र) शामिल थे। 

वैज्ञानिक जजों की पूरी टीम ने रितिका ध्रुव को बधाई दी और उन्हें उन्हें एसडीएससी में अधिक जानने के लिए आमंत्रित किया। इसी क्रम मे रितिका ध्रुव प्रशिक्षण के लिए 1 अक्टूबर से 6 अक्टूबर तक सतीश धवन स्पेस सेंटर हरिकोटा आंध्रप्रदेश में प्रशिक्षण लेने पहुंची है। अगले चरण का प्रशिक्षण नवम्बर में बैंगलूरू इसरो में क्षुद्रग्रह प्रशिक्षण शिविर में हिस्सा लेंगी

छत्तीसगढ़ में लोगों की जीवन में फिर से रोशनी लाने चल रहा है महाअभियान

No comments

रायपुर। छत्तीसगढ़ में दृष्टिहीनता को मिटाने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल से एक बड़ा अभियान शुरू किया गया है। इस अभियान में मोतियाबिंद के लगभग 4 लाख मरीजों की आंखो की रोशनी लौटाने का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए सभी जिलों में व्यापक तैयारी शुरू कर दी गई है। मोतियाबिंद के मरीजों के ऑपरेशन का काम शुरू कर दिया गया है। इस अभियान में छत्तीसगढ़ को 2025 तक मोतियाबिंद मुक्त राज्य बनाने का संकल्प रखा गया है।



मोतियाबिंद मुक्त राज्य बनाने के लिए गांव-गांव में मरीजों के चिन्हांकन के लिए स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं, मितानिनों और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा दृष्टिदोष रोगियों की सूची तैयार की जा रही है। जिला अस्पताल में ऑपरेशन के लिए पर्याप्त संख्या में चिकित्सक एवं जरूरी स्टॉफ तैनात किए गए हैं। मरीजों की नेत्र परीक्षण के साथ-साथ मोतियाबिंद ऑपरेशन की भी व्यवस्था है। मोतियाबिंद के मरीजों को लाने और ले जाने के लिए वाहनों की व्यवस्था भी की गई है। 



ऑपरेशन के बाद मरीजों की भर्ती के लिए पर्याप्त संख्या में बिस्तरों की व्यवस्था भी की गई है। ऑपरेशन के अलावा मरीजों को आंखो की देखभाल के लिए परामर्श के साथ-साथ चश्मा एवं दवाईयों की निःशुल्क व्यवस्था भी की जा रही है। इसके अलावा लोगों को आंखों की देखभाल और आंखों में होने वाले बीमारियों के बारे में इलाज के संबंध में जागरूक किया जा रहा है। बस्तर अंचल में आंखों की बीमारी और आंखों की देखभाल करने के संबंध में लोगों को स्थानीय बोली में जागरूक भी किया जा रहा है।

20 सालों बाद लोगों को फिर से देखकर भावुक हुए पाण्डू

सुकमा जिले के कोयाबेकुर निवासी ओयामी पाण्डू ने अपने जीवन की 20 बरस अंधकार में गुजार दिए। जब उनका मोतियाबिंद ऑपरेशन के बाद उनके आंखों की रोशनी लौटी तो उनकी खुशी का ठिकाना ही नहीं रहा। पांडू ने जब पुनः दुनिया के रंगों को देखा, तो उसने उत्साह में गिनती भी गिनी, डॉक्टर को धन्यवाद भी दिया और अपनी चमकती आंखों के साथ अपने गांव लौटने की आतुरता भी पांडू में साफ नजर आ रही थी।

ओयामी पाण्डू ने बताया कि उम्र बढ़ने के कारण धीरे-धीरे आंखों की रोशनी कम होने लगी थी, जिससे वे अपने दैनिक जीवन का कामकाज नहीं कर पा रहे थे। शुरू में वे बैगा-गुनिया के पास भी गए और देशी दवाइयों का भी सेवन किया। कई प्रयासों के बाद भी आंखों की रोशनी नहीं लौटी। पाण्डू ने बताया कि आंखों की रोशनी जाने से खेती किसानी का काम भी नही हो पा रहा था।

ओयामी पाण्डू आगे बताते हैं कि रोशनी जाने के बाद से हर एक काम के लिए पत्नी और बेटों पर आश्रित हो गया था। उनकी पत्नी कोसी को भी एक आंख से दिखाई नहीं देता था, जिसका ऑपरेशन भी अभी हुआ है। मोतियाबिंद के ऑपरेशन के बाद अब हम दोनों अच्छे से देख पा रहे हैं। पहले की तरह आंखों की रोशनी पाकर हम बहुत खुश है। अब मेरी पत्नी घर का काम अच्छे से कर पाएगी और मैं बेटों के साथ खेती किसानी करने जाऊंगा। पाण्डू ने भावुक होते हुए कहा कि मोतियाबिंद के ऑपरेशन से एक नई रंगबिरंगी जिन्दगी मिली है और इसके लिए मैं मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी का आभार व्यक्त करता हूँ।

माना सिविल अस्पताल में एक हजार मोतियाबिंद का ऑपरेशन

रायपुर स्थित माना सिविल अस्पताल में भी लगभग एक हजार मरीजों की मोतियाबिंद ऑपरेशन किए गए हैं, जिसमें 202 मरीजों का ऑपरेशन डाइबिटिज व हाइपरटेंशन के नियंत्रण के बाद किया गया है। इस अस्पताल में अन्य जिलों से आने वाले 22 मरीजों का भी ऑपरेशन किया गया है। अस्पताल में मोतियाबिंद ऑपरेशन के लिए 6 सर्जन सहित 35 लोगों की टीम काम कर रही है।

अंधत्व निवारण कार्यक्रम के राज्य नोडल अधिकारी डॉ. सुभाष मिश्रा ने बताया कि छत्तीसगढ़ को मोतियाबिंद दृष्टिहीनता मुक्त राज्य बनाने की दिशा में लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। मोतियाबिंद के उपचार की अत्याधुनिक फेकोतकनीक के माध्यम से पीड़ितों का उपचार किया जा रहा है। ऑपरेशन की इस विधि में आंख में महज एक बारिक छेद किया जाता है, जिसके माध्यम से मोतिया को आंख के अंदर ही घोल दिया जाता है। इस छेद के जरिए ही फोल्डेबल लेंस को आंख के अंदर प्रत्यारोपित कर दिया जाता है।

तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के पदों पर भर्ती संबंधी राज्य सरकार की अधिसूचना निरस्त

No comments

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय ने बस्तर और सरगुजा संभाग के अलावा बिलासपुर संभाग के गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही तथा कोरबा जिले में तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के पदों पर स्थानीय निवासियों की भर्ती संबंधी राज्य सरकार की अधिसूचना को निरस्त कर दिया है।



उच्च न्यायालय ने सत्रह जनवरी दो हजार बारह को जारी अधिसूचना और समय-समय पर जारी अधिसूचनाओं को संविधान के अनुच्छेद-चौदह, पंद्रह और सोलह के विपरीत माना है। सामान्य प्रशासन विभाग ने इस संबंध में विभागों और कलेक्टरों तथा जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को पत्र लिखकर आदेश का पालन करने के निर्देश दिए हैं।

स्वच्छता सर्वेक्षण के इंडियन स्वच्छता लीग में छत्तीसगढ़ के आठ शहरों ने बाजी मारी

No comments

नई दिल्ली। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने आज नई दिल्ली में आयोजित एक समारोह में ‘‘आजादी एट द रेट पचहत्तर’’ स्वच्छ सर्वेक्षण दो हजार बाईस के सबसे साफ राज्यों और शहरों को पुरस्कार प्रदान किए। स्वच्छ सर्वेक्षण में बेस्ट परफॉर्मिंग स्टेट की श्रेणी में छत्तीसगढ़ दूसरे स्थान पर रहा। स्वच्छता सर्वेक्षण के इंडियन स्वच्छता लीग में छत्तीसगढ़ के आठ शहरों ने बाजी मारी है। इनमें से सात नगरीय निकाय पहले स्थान पर और एक निकाय दूसरे स्थान पर रहा है। एक लाख से कम आबादी वाले शहरों की श्रेणी में दुर्ग जिले के पाटन ने ईस्ट जोन में पहला और देश में दूसरा स्थान प्राप्त किया है।



वहीं, एक लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में अंबिकापुर राज्य में पहले स्थान पर और कोरबा दूसरे स्थान पर रहा। ईस्ट जोन में पच्चीस से पचास हजार आबादी की श्रेणी में सिटीजन फीडबैक अवॉर्ड से बलौदाबाजार को पुरस्कृत किया गया। पचास हजार से कम आबादी वाले निकायों में भटगांव और माना कैम्प, पंद्रह से पच्चीस हजार की आबादी वाले निकायों में खैरागढ़, पच्चीस से पचास हजार की आबादी वाले निकायों में जशुपर नगर और कोंडागांव, पचास हजार से एक लाख की आबादी वाले निकायों में बीरगांव और दस लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में रायपुर में शामिल हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ की इस उपलब्धि पर प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।

एक साथ-एक समय पर प्रदेश के सभी जिलों में होगी सायकल रैली

No comments

रायपुर। आयुष्मान पखवाड़े के अंतर्गत 02 अक्टूबर गांधी जयंती के अवसर पर राज्य के सभी जिलों में प्रातः 10 बजे भव्य सायकल रैली निकाली जाएगी। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना व मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना की जानकारी आम जनमानस तक पहुंचाने तथा आयुष्मान कार्ड पंजीयन के लिए लोगों को प्रेरित करने के उद्देश्य से आयोजित इस सायकल रैली में उच्चतर माध्यमिक शालाओं के विद्यार्थी भाग लेंगे।



राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के निर्देशों के अनुसार देश के सभी राज्यों में आयुष्मान पखवाड़े का आयोजन किया जा रहा है। इसी तारतम्य में छत्तीसगढ़ में 23 सितम्बर से 07 अक्टूबर तक आयुष्मान पखवाड़े के दौरान विविध आयोजन किये जा रहे हैं। 02 अक्टूबर को राज्य के सभी जिलों में योजना की जागरूकता को लेकर सायकल रैली आयोजित है। स्कूली छात्र-छात्राओं की सहभागिता से आयोजित होने वाली सायकल रैली को लेकर सभी जिलों में तैयारियां पूरी हो गई है।

सायकल रैली को लेकर छात्र-छत्राओं में जबरदस्त उत्साह है। जिला प्रशासन भी इस आयोजन में बढ़-चढ़कर अपनी भूमिका निभा रहा है। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव के मार्गदर्शन में राज्य में बीते पौने चार सालों में स्वास्थ्य सुविधाओं का सुदृढ़ करने के साथ ही मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक, दाई-दीदी क्लिनिक, मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य जैसी अभिनव योजनाओं के माध्यम से स्वास्थ्य सुविधाओं को आमजन तक सहजता से पहुंचाने को लेकर उल्लेखनीय कार्य हुए है। 

मलेरिया मुक्त बस्तर के बाद मलेरिया मुक्त छत्तीसगढ़ अभियान के चलते वनांचल में मलेरिया से मौत के आंकड़े में बेहद कमी आयी है। कुपोषण और एनीमिया के चक्र से बच्चों और महिलाओं बाहर निकालने में मदद मिली है। यही वजह है कि स्वास्थ्य के क्षेत्र में छत्तीसगढ़ राष्ट्रीय स्तर पर लगातार अपनी मजबूत स्थिति दर्ज करा रहा है। छत्तीसगढ़ राज्य को बीते वर्ष राष्ट्रीय स्तर के चार पुरस्कार एवं अभी हाल ही में 26 सितम्बर 2022 को राष्ट्रीय स्तर के दो पुरस्कार मिले हैं। 

उल्लेखनीय है कि आयुष्मान कार्ड के पंजीयन की महत्ता के बारे में लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से बीते 23 सितंबर को स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव के मार्गदर्शन में अंबिकापुर में स्कूली छात्र-छात्राओं की सायकल रैली का आयोजन किया था। इस दौरान आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना व मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना से उपचार लाभ लेने के लिये आयुष्मान कार्ड पंजीयन की अनिवार्यता के लिये जागरूकता लाने व उत्साहवर्धन के लिये आयोजन में शामिल हुये।

 आयुष्मान पखवाड़े के परिप्रेक्ष्य में 23 सिंतबर से लेकर 7 अक्टूबर तक सभी जिलों में ब्लॉक स्तरीय हेल्थ कैम्प आयोजित किये जा रहे है। कैम्प में आने वाले लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण करने के साथ ही उनका आयुष्मान कार्ड पंजीयन किया जा रहा है। स्वास्थ्य परीक्षण में किसी तरह की बीमारी सामने आने पर योजना के माध्यम से मरीजों को निःशुल्क उपचार उपलब्ध कराया जा रहा है। गंभीर बीमारी होने की स्थिति में उच्च चिकित्सा संस्थानों में मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना के माध्यम से भी निःशुल्क उपचार की व्यवस्था की गई है।

गौठान के कार्य में लापरवाही बरतने के मामले में दो पंचायत सचिव निलंबित

No comments

मुंगेली जिले के ग्राम पंचायत राजपुर एवं उजियारपुर के पंचायत सचिव को निलंबित कर दिया गया है। जिला पंचायत मुंगेली के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डी.एस. राजपूत द्वारा उक्त दोनों ग्राम पंचायत सचिवों के निलंबन की कार्रवाई उनके द्वारा गौठान के कार्य में लापरवाही बरतने के मामले में की गई है। ग्राम पंचायत राजपुर के सचिव अर्जुन लाल यादव द्वारा गौठान में गोबर खरीदी नहीं कराने एवं गौठान कार्य में सहयोग नहीं करने तथा ग्राम पंचायत उजियारपुर के सचिव बलरामदास मानिकपुरी द्वारा गौठान में हो रहे निर्माण कार्य,

टीकाकरण कार्य में सहयोग नहीं करने एवं शासन की फ्लैगशिप योजना के क्रियान्वयन में रूचि नहीं लेने के मामले में निलंबित किया गया है। निलंबित कर दिया गया है। निलंबन अवधि में अर्जुन लाल यादव का मुख्यालय जनपद पंचायत मुंगेली और बलरामदास मानिकपुरी का मुख्यालय जनपद पंचायत लोरमी निर्धारित किया गया है।

स्वच्छ सर्वेक्षण में छत्तीसगढ़ ने लहराया परचम, स्वच्छता में पाटन ईस्ट जोन में पहले और देश में दूसरे स्थान पर

No comments

रायपुर। स्वच्छ सर्वेक्षण में एक बार फिर छत्तीसगढ़ ने देशभर में परचम लहराया है। छोटे शहरों की कैटेगरी में दुर्ग जिले के पाटन ने ईस्ट जोन में पहला और देश में दूसरा स्थान पाया है। वहीं स्वच्छ शहरों में अंबिकापुर ने अपनी बादशाहत कायम रखी है। बेस्ट परफॉर्मिंग स्टेट की श्रेणी में छत्तीसगढ़ दूसरे स्थान पर रहा। दिल्ली के ताल कटोरा स्टेडियम में आयोजित स्वच्छ अमृत महोत्सव में एक बार फिर छत्तीसगढ़ ने स्वच्छता में बाजी मारी है।  



छत्तीसगढ़ के नगरीय प्रशासन एवं श्रम मंत्री शिव डहरिया ने आवासन और शहरी कार्य मंत्री हरदीप पुरी के हाथों  सम्मान ग्रहण किया। कार्यक्रम में संयुक्त सचिव आर एक्का, सूडा के सीईओ एवं मिशन डायरेक्टर सौमिल रंजन चौबे , एडिशनल सीईओ आशीष टिकरिया भी उपस्थित रहे। एक लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में अंबिकापुर राज्य में पहले नंबर और कोरबा दूसरे नंबर पर रहा।

ईस्ट जोन में 25- 50 हजार आबादी की श्रेणी में सिटीजन फीडबैक अवॉर्ड से बलौदाबाजार पुरस्कृत किया गया। इसके साथ ही स्वच्छता सर्वेक्षण के इंडियन स्वच्छता लीग (आईएसएल) में छत्तीसगढ़ के आठ शहरों ने बाजी मारी है. इनमें से सात नगरीय निकाय पहले नंबर पर और एक दूसरे स्थान पर रहा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ की इस उपलब्धि पर सभी नागरिकों को बधाई देते हुये कहा है कि सभी नागरिकों की स्वच्छता के प्रति जागरूकता से राज्य के इतने शहरों को पुरस्कार मिला है ।

स्वच्छ सर्वेक्षण का पुरस्कार समारोह शनिवार को तालकटोरा स्टेडियम, नई दिल्ली में आयोजित किया गया। राष्ट्रपति श्रीमती द्रोपदी मुर्मु ने विजयी नगरीय निकायों को पुरस्कृत किया। शुक्रवार को इंडियन स्वच्छता लीग (आईएसएल) में विजयी शहरों का ऐलान किया गया। इंडियन स्वच्छता लीग में अलग-अलग वर्गों के तहत 15 हजार से कम आबादी वाले नगरीय निकायों में भटगांव और माना कैंप, 15 से 25 हजार की आबादी में खैरागढ़, 25 से 50 हजार की आबादी वाले निकाय में जशपुर नगर और कोंडागांव, 50 हजार से 1 लाख में बिरगांव, 1 लाख से 3 लाख की आबादी में अंबिकापुर प्रथम स्थान प्राप्त किये हैं, वहीं 10 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में रायपुर ने दूसरा स्थान प्राप्त किया है।

पाटन स्वछता में अग्रणी क्यों....

1. गरबा गरबा गरबा बाड़ी और स्वच्छता के कन्वर्जेंस का इंटीग्रेटेड मॉडल, 2. देश का सर्वप्रथम आई ई सी एक्सपेरियेंस जोन, 3. देश का सर्वप्रथम 5 स्टार छोटा शहर, 4. देश का प्रथम ODF शहर, 5. यहाँ के नागरिक स्वच्छता सुविधाओं से पूरी तरह संतुष्ट होने के कारण शहर सिटीजन फीडबैक में आगे, 6. छोटे शहरों का प्रदेश में पहला मलबा प्रसंस्करण प्लांट, 7. पूरे देश हेतु रोल मॉडल 3 मार्च को समस्त राज्य की टीम द्वारा भ्रमण, 8. अर्बन गोठान का उत्कृष्ठ कार्य के साथ कचरा और गोबर का 100 प्रतिशत खाद निर्माण, 9. मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना के माध्यम से स्वच्छता कर्मियों का इलाज

ऐसे हुआ सर्वे- स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 हेतु राज्य के समस्त 169 नगरीय निकायों ने भाग लिया है। इस हेतु विगत 08 माह से लगातार सर्वे की टीम निकायों के भ्रमण पर रही है। सर्वे की टीम द्वारा निकायों में मिशन क्लीन सिटी, स्वच्छता श्रृंगार, सुविधा 24, गोधन न्याय योजना, निदान-1100, निष्ठा आदि राज्य प्रवर्तित योजनाओं के साथ-साथ स्वच्छ भारत मिशन की प्रगति का निरीक्षण किया। निकायों के निरीक्षण उपरान्त ओडीएफ की स्थिति पूर्व वर्षों की तरह ही अच्छी पायी गई।

राज्य शासन द्वारा आजादी का अमृत महोत्सव के दौरान आयोजित जन-जागरण प्रतिनिधियों जैसे महापुरूषों की प्रतिमाओं की नागरिकों द्वारा साफ-सफाई, चौराहों की ब्रांडिंग, स्मारकों का रख-रखाव आदि में भी राज्य के निकायों के उत्कृष्ट प्रदर्शन का आधार बनी। छत्तीसगढ़ की अनूठी पहल...राज्य ने स्वच्छता कर्मियों को सम्मान समारोह में शामिल होने दिल्ली भेजा

स्वच्छता सर्वेक्षण का सम्मान समारोह में पुरस्कार लेने के लिये छत्तीसगढ़ राज्य ने प्रत्येक शहर से स्वच्छता दीदी को  दिल्ली भेजा है। इनमें पाटन- लता मंडलेश, अंबिकापुर -शशिकला सिन्हा, भिलाई चरोदा -सुनीति वर्मा, चिरिमीरी- अनामिका विश्वकर्मा,अकलतरा -गौरी बाई खांडे,बलोदा बाजार -सुभाषिनी शेंद्रे, बलरामपुर- कलमनी देवी, कवर्धा -निशा खान, जशपुर नगर- राखी सिंह, विश्रामपुर -भारती गुप्ति और खोंगापानी से सुधा मिश्रा एवं सम्बंधित नगरीय निकायों के अध्यक्ष, सीएमओ शामिल हैं। उल्लेखनीय है कि किसी भी शहर या राज्य ने ये पहल नहीं की है।

© Media24Media | All Rights Reserved | Infowt Information Web Technologies.