Responsive Ad Slot

Latest

latest
lockdown news

महासमुंद की खबरें

महासमुंद की खबर

रायगढ़ की ख़बरें

raigarh news

दुर्ग की ख़बरें

durg news

जम्मू कश्मीर की ख़बरें

jammu and kashmir news

VIDEO

Videos
top news


 

संकुल समन्वयक को कारण बताओ नोटिस : दो शिक्षकों एक दिन का कटेगा वेतन

No comments

रायपुर। मनेन्द्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर जिले के कलेक्टर पी.एस. ध्रुव ने प्राथमिक शाला श्रीरामपुर को समय से पूर्व बंद पाए जाने पर संकुल समन्वयक भारत भूषणकांत को कारण बताओ नोटिस जारी करने के साथ शाला में पदस्थ दोनों शिक्षकों का एक दिन का वेतन काटे जाने की कार्रवाई की है। कलेक्टर ने जिला शिक्षा अधिकारी को श्रीरामपुर शाला में पदस्थ शिक्षकों को समय से पूर्व शाला बंद करने के मामले में कारण बताओ नोटिस भी जारी करने के निर्देश दिए हैं।

गौरतलब है कि कलेक्टर ध्रुव आज शालाओं में अध्ययन-अध्यापन और धान खरीदी की स्थिति का जायजा लेने के लिए आकस्मिक दौरे पर निकले थे। कलेक्टर अपने भ्रमण के दौरान अपरान्ह 3.10 बजे प्राथमिक शाला श्रीरामपुर पहुंचे तो स्कूल बंद पाए जाने पर गहरी नाराजगी जताई और जिला शिक्षा अधिकारी को संकुल समन्वयक सहित शिक्षकों के विरूद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए। इससे पूर्व कलेक्टर ने धान उपार्जन केन्द्र-घुटरा, कछौड़ एवं केल्हारी का मुआयना किया। इन तीनों केन्द्रों में धान खरीदी के लिए एक भी टोकन शेष नहीं रहने के कारण उन्होंने अपनी उपस्थिति में यहां धान खरीदी की क्लोजिंग कराई। इस दौरान उन्होंने किसानों से धान खरीदी और भुगतान के बारे में भी चर्चा की। शत्-प्रतिशत किसानों से धान खरीदी और त्वरित भुगतान के लिए सभी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एवं जिला प्रशासन को धन्यवाद दिया।

कलेक्टर ध्रुव ने ग्राम पंचायत कछौड़ में आयुष्मान हेल्स एड वेल्नेस सेन्टर का भी निरीक्षण किया। उन्होंने मौके पर मौजूद डॉ. शम्भू केशरवानी से स्वास्थ सुविधाओं की जानकारी ली। कलेक्टर ने इस दौरान प्राथमिक शाला कछौड़ एवं पूर्व माध्यमिक शाला कछौड़ प्रथामिक शाला रोझी का भी निरीक्षण किया। उन्होंने निरीक्षण के दौरान मध्यान्ह भोजन की गुणवत्ता की जाँच कर शिक्षकों को आवश्यक निर्देश दिए और स्कूली बच्चों को चॉकलेट भी बांटे। कलेक्टर ने श्रीरामपुर के कृषक जगत सिंह गोड़ के निवास पहुंचकर जल जीवन मिशन के तहत् निर्माणाधीन स्थल का जायजा लिया।

गौरतलब है कि मनेन्द्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर जिले में 31 जनवरी तक कुल 13 हजार 737 किसानाें ने 7 लाख 7 हजार 935 क्विंटल धान समर्थन मूल्य पर बेचा है। जिसमें से 5 लाख 86 हजार 160 क्विंटल धान का परिवहन पंजीकृत 12 राईस मिलरों के द्वारा किया जा चुका है। वर्तमान में उपार्जन केन्द्राें में 1 लाख 21 हजार 776 क्विंटल धान शेष है और उठाव का प्रतिशत 82.80 है। कलेक्टर ने खाद्य अधिकारी संजय ठाकुर को शेष धान का तेजी से उठाव कराने के निर्देश दिए हैं।

नव पदस्थ कलेक्टर श्रीमती प्रियंका ऋषि महोबिया ने कार्यभार ग्रहण किया

No comments

गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही। जिले में नव पदस्थ कलेक्टर श्रीमती प्रियंका ऋषि महोबिया ने आज कलेक्ट्रेट में कार्यभार ग्रहण किया। इस दौरान अपर कलेक्टर बीसी एक्का, संयुक्त कलेक्टर वीरेंद्र सिंह एवं आनंद रूप तिवारी, जिला कोषालय अधिकारी जितेंद्र कुमार श्रीवास सहित विभिन्न विभागों के अधिकारियों-कर्मचारियों ने अपना परिचय देते हुए नए कलेक्टर का स्वागत किया।

कलेक्टर श्रीमती महोबिया ने कार्यभार ग्रहण करने के बाद कलेक्ट्रेट परिसर का अवलोकन किया। उन्होने अपर कलेक्टर एवं संयुक्त कलेक्टरों के बैठक कक्षों सहित अरपा सभा कक्ष, वीसी रूम,

जिला निर्वाचन शाखा, भू-अभिलेख, नाजिर, वित्त, डीएमएफ, अधीक्षक, आवक-जावक आदि शाखाओं का निरीक्षण कर शाखा प्रभारियों  से परिचय प्राप्त की।

राजस्व प्रकरणों के निराकरण में विलंब बर्दाश्त नहीं

No comments

जगदलपुर। कलेक्टर चंदन कुमार ने राजस्व प्रकरणों के निराकरण में किसी भी प्रकार के विलंब पर कड़ी कार्यवाही की चेतावनी देते हुए कहा कि भू-व्यपवर्तन, भवन अनुज्ञा, पट्टा नवीनीकरण, नामांतरण, खाता विभाजन, सीमांकन के आवेदनों का निराकरण निर्धारित समय-सीमा के भीतर करें। 

उन्होंने कार्यालय के प्रेरणा कक्ष में आयोजित समय-सीमा की बैठक में सभी लंबित राजस्व प्रकरणों का त्वरित निराकरण करने के साथ ही राजस्व वसूली के लक्ष्य को पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने सामाजिक प्रास्थिति प्रमाण पत्र की प्रगति की समीक्षा अनुविभाग एवं तहसीलवार करते हुए पोर्टल में ऑनलाईन एंट्री पर भी जोर दिया। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी प्रकाश सर्वे, वन मंडलाधिकारी डीपी साहू, अपर कलेक्टर हरेश मंडावी सहित विभिन्न विभागों के जिलास्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

पिछले दिनों मुख्यमंत्री की अध्यक्षता मे आयोजित इंद्रावती बेसिन विकास प्राधिकरण की बैठक में लिए गए निर्णय के अनुसार इंद्रावती नदी और उसकी सहायक नदियों में जल संरक्षण के लिए नरवा विकास के तहत कार्य करने एवं नदी-नालों के किनारे अधिक से अधिक वृक्षारोपण करने के निर्देश दिए। उन्होंने वृक्षारोपण कार्य की तैयारी मार्च माह में करते हुए गड्ढे खोदने का कार्य प्रारंभ करने के निर्देश दिए। बैठक में देवगुड़ियां के जीर्णोद्धार के संबंध में समीक्षा करते हुए विभागीय मद, डीएमएफटी मद और बस्तर विकास प्राधिकरण मद से स्वीकृत विकास कार्यों को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने देवगुड़ी परिसर में अनिवार्य तौर पर वृक्षारोपण करने के निर्देश भी दिए।

इस दौरान विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए जल जीवन मिशन के तहत स्वीकृत कार्यों की गति बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने फ्लोराईड प्रभावित गांवों में शुद्ध पेयजल की आपूर्ति के संबंध में भी अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होंने पोषण पुनर्वास केन्द्रों में उपचारित बच्चों के स्वास्थ्य की नियमित जांच के संबंध में भी निर्देशित किया। बैठक में समय-सीमा के प्रकरणों पर चर्चा की गई। इस दौरान आंगनबाड़ी एवं उचित मूल्य की दुकान निर्माण, अमृत सरोवर और चांदामेटा क्षेत्र में किए जा रहे विकास कार्यों की विस्तृत समीक्षा की।

सड़कों के निर्माण में दिखनी चाहिए तेजी - कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा

No comments

रायगढ़। कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने आज पदभार संभालते ही पहले दिन जिले में सड़क निर्माण कार्यों की समीक्षा की। कलेक्टर ने अधिकारियों से कहा कि अभी सड़क निर्माण कार्य के लिए सबसे अनुकूल समय है। ऐसे में पूरी क्षमता से काम हो और निर्माण कार्यों में तेजी दिखनी चाहिए। उन्होंने कहा कि वे हर हफ्ते काम की समीक्षा करेंगे और मौके पर जाकर नियमित रूप से मुआयना भी करेंगे। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यों में कहीं कोई दिक्कत आ रही हो तो उसकी सूचना दें, ताकि समस्या का तत्काल निराकरण हो।

कलेक्टर सिन्हा ने आज विभिन्न विभागों द्वारा जिले में करवाए जा रहे सड़क निर्माण कार्यों की अब तक की प्रगति और आगे की कार्ययोजना की सड़कवार समीक्षा की। उन्होंने पीडब्ल्यूडी विभाग के कार्यपालन अभियंता से खरसिया से छाल से हाटी से धरमजयगढ़-पत्थलगांव मार्ग, रायगढ़ से धरमजयगढ़ मार्ग, घरघोड़ा से पूंजीपथरा मार्ग व घरघोड़ा से लैलूंगा मार्ग के विभिन्न हिस्सों में चल रहे निर्माण कार्यों के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि काम की गति बढ़ानी होगी।

कलेक्टर सिन्हा ने पीएमजीएसवाई, नेशनल हाईवे, एडीबी, सेतु निर्माण विभाग के काम-काज की भी समीक्षा की। कुछ भू-अर्जन के मामलों की जानकारी भी विभागीय अधिकारियों ने दी। कलेक्टर सिन्हा ने ऐसे मामलों को तेजी से निराकृत करने के निर्देश दिए। उन्होंने कार्यपालन अभियंता पीएमजीएसवाय से सड़कों के निर्माण के साथ ही मेंटेनेंस के बारे में भी पूरा ब्यौरा लिया।

इस दौरान सीईओ जिला पंचायत अबिनाश मिश्रा, अपर कलेक्टर सुश्री संतन देवी जांगड़े, अपर कलेक्टर राजीव पाण्डेय, जिला परिवहन अधिकारी दुष्यंत रायस्त, ईई पीडब्ल्यूडी आर.के.खाम्बरा सहित पीएमजीएसवाई, नेशनल हाईवे, एडीबी, सेतु निर्माण विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे।

अवैध महुआ शराब 210 लीटर सहित 6 हजार किलो लाहन जप्त

No comments

सारंगढ़-बिलाईगढ़। सचिव सह आबकारी आयुक्त निरंजन दास एवं प्रबंध संचालक ए.पी.त्रिपाठी के द्वारा दिए गए निर्देश के तारतम्य में जिला सारंगढ़-बिलाईगढ़ में अवैध शराब के विरुद्ध कार्यवाहियां जारी हैं।

कलेक्टर डॉ.फरिहा आलम सिद्दीकी एवं सहायक आयुक्त आबकारी रामकृष्ण मिश्रा के निर्देश पर 30 जनवरी शुष्क दिवस को मुखबिर से सूचना मिलने पर सालर क्षेत्र के ग्राम कटेल के जंगल में कार्यवाही की गई। जहां आरोपी टीम देखकर जंगल की ओर भाग निकलने में कामयाब हो गए मौके पर से दो चढ़ी भी, 210 लीटर अवैध महुआ शराब एवं 6 हजार किलो महुआ लाहन एवं 20 किलो शक्कर तथा 20 किलो सुखा महुआ जप्त किया गया। अज्ञात आरोपी के विरुद्ध विभिन्न धारा के तहत गैर जमानतीय प्रकरण दर्ज किया गया एवं आरोपियों की पतासाजी जारी है। उक्त कार्यवाही में सहायक जिला आबकारी अधिकारी अनिल बंजारे, आरक्षक गणेश धीरज का सहयोग रहा।

अनुशासित जीवन पद्धति से पर्यावरण का संरक्षण कर सकते हैं युवा – सुश्री अनन्या बिड़ला

No comments

रायपुर। युवा उद्यमी, मशहूर गायिका और म्यूजिक कंपोजर सुश्री अनन्या बिड़ला आज छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल द्वारा जलवायु परिवर्तन के खिलाफ युवाओं की भूमिकाविषय पर आयोजित पैनल डिस्कशन में शामिल हुईं। छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल द्वारा रायपुर के पंडित दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम में यूनिसेफ, एनएसएस, अनन्या बिड़ला फाउंडेशन और संज्ञा पीआर के सहयोग से पैनल डिस्कशन तथा लाइव बैंड का आयोजन किया गया था। 

पैनल डिस्कशन में छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के प्रबंध संचालक अनिल साहू और पर्यावरणविद एम.एल. नायक, अजय मिश्रा, श्वेता पटनायक, मंजरी शर्मा और तनुजा वर्मा शामिल हुए। श्याम सुंदर पैनल डिस्कशन के मॉडरेटर थे। पैनल डिस्कशन के बाद सुश्री अनन्या बिड़ला ने लाइव बैंड पर अपनी प्रस्तुति भी दी जिसने कार्यक्रम में मौजूद युवाओं को झूमने पर मजबूर किया।

पैनल डिस्कशन में जलवायु परिवर्तन के खिलाफ युवाओं की भूमिका सुनिश्चित करने और राज्य में पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देने कई विशेषज्ञों एवं यूथ आइकॉन के रूप में मौजूद सुश्री अनन्या बिड़ला ने अपने विचार रखे। कार्यक्रम में सभी पैनलिस्ट्स ने अनुशासित जीवन पद्धति से जलवायु परिवर्तन पर नियंत्रण पर जोर दिया। पैनलिस्ट्स ने अपने-अपने संस्थान द्वारा पर्यावरण की सुरक्षा के लिए किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी। उन्होंने युवाओं को ऊर्जा संरक्षण के लिए जागरूक होने का संदेश दिया।

मुख्यमंत्री के सलाहकार गौरव द्विवेदी ने कार्यक्रम में अपने स्वागत उद्बोधन में कहा कि आज युवाओं का युग है। पर्यावरण के संरक्षण और जलवायु परिवर्तन को रोकने में युवाओं की अहम भूमिका है। द्विवेदी ने छत्तीसगढ़ का राजकीय गमछा पहनाकर यूथ आइकन सुश्री अनन्या बिड़ला का सम्मान किया। उन्होंने छत्तीसगढ़ आने के लिए सुश्री बिड़ला को धन्यवाद दिया। छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के प्रबंध संचालक अनिल साहू ने सुश्री बिड़ला को बस्तर आर्ट की भगवान श्रीराम की मूर्ति और छत्तीसगढ़ हर्बल्स का हैंपर स्मृति चिन्ह के रूप में भेंट किया।

पैनल डिस्कशन में शिरकत करते हुए सुश्री अनन्या बिड़ला ने कहा कि युवा समझदार हैं। वे अनुशासित जीवन पद्धति को अपनाकर पर्यावरण का संरक्षण कर सकते हैं। उन्होंने युवाओं से अपील की कि यदि उनके पास पर्यावरण संरक्षण को लेकर कोई विचार हैं, तो हमसे अवश्य साझा करें। हम उस पर अमल करेंगे। सुश्री बिड़ला ने कार्यक्रम में वर्ष 2023 में दस हजार पेड़ लगाने का संकल्प लिया। उन्होंने रायपुर के दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम परिसर में पौधा लगाकर इसकी शुरूआत की। 

छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल के प्रबंध संचालक अनिल साहू ने पर्यावरण सन्तुलन और पर्यटन के विकास में छत्तीसगढ़ शासन की योजनाओं की भूमिका पर प्रकाश डालते हुए कहा कि राज्य में 90 लाख क्विन्टल से अधिक धान की खरीदी होती है, लेकिन पराली जलाने की जो समस्या दिल्ली और पंजाब में देखी जाती है, वैसी स्थिति यहां नहीं है।

 

ईमानदार व्यक्तियों का सम्मान करती है सरकार- राष्ट्रपति

No comments

नई दिल्ली। संसद का बजट सत्र आज से शुरू हो गया है। छह अप्रैल तक तक चलने वाले इस सत्र के दौरान कुल सत्ताईस बैठकें होंगी। वहीं, वर्ष दो हजार तेईस-चौबीस का केन्द्रीय बजट कल पेश किया जाएगा। संसद के केंद्रीय कक्ष में दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने कहा कि भारत में स्थिर, निडर और निर्णय लेने वाली सरकार है।

उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक, आतंकवाद उन्मूलन के लिए ठोस कार्रवाई, नियंत्रण रेखा और वास्तविक नियंत्रण रेखा पर हर तरह के दुस्साहस को कड़ा जवाब, अनुच्छेद-तीन सौ सत्तर और तीन तलाक को हटाना निर्णायक सरकार के उदाहरण हैं। राष्ट्रपति ने कहा कि देश में ऐसी सरकार है, जो ईमानदार व्यक्तियों का सम्मान करती है और गरीबों की समस्याओं के समाधान तथा उन्हें स्थायी रूप से सशक्त करने के लिए काम कर रही है। उन्होंने कहा कि ऐसा भारत बनाए जो आत्मनिर्भर हो और अपने मानवीय कर्तव्यों को भी पूरा करने में सक्षम हो।

संसद में आज वित्तीय वर्ष दो हजार बाईस-तेईस का आर्थिक सर्वेक्षण प्रस्तुत किया गया, जिसमें वास्तविक रूप से छह दशमलव पांच प्रतिशत की आधारभूत जीडीपी वृद्धि का अनुमान लगाया गया है। सर्वेक्षण के अनुसार, चालू वित्त वर्ष में भारतीय अर्थव्यवस्था में वास्तविक रूप से सात प्रतिशत की दर से वृद्धि की उम्मीद है। बजट सत्र शुरू होने से पहले संसद के बाहर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि वर्तमान वैश्विक परिदृश्य में दुनिया की निगाहें भारत के बजट पर हैं। उन्होंने कहा कि सरकार का एकमात्र ध्येय भारत प्रथम, नागरिक प्रथमहै।

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. टेकाम ने 31 शिक्षिकों को किया सम्मानित

No comments

रायपुर। मुख्यमंत्री की घोषणा अनुसार प्रतिवर्ष विकासखण्ड, जिला और संभाग स्तर पर मुख्यमंत्री गौरव अंलकरण योजना के अंतर्गत शिक्षकों को पुरस्कृत किया जाता है। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने आज माध्यमिक शिक्षा मण्डल परिसर स्थित संयुक्त संचालक स्कूल शिक्षा कार्यालय के सभागार में मुख्यमंत्री शिक्षा गौरव अलंकरण योजना के अंतर्गत रायपुर संभाग के 31 शिक्षकों को सम्मानित किया।

इनमें शिक्षा दूत सम्मान से 12 शिक्षक, ज्ञानदीप से 03 शिक्षक, शिक्षा से 03 व्याख्याता, उत्कृष्ट प्राचार्य 05 और 08 उत्कृष्ट प्राधान पाठक सम्मानित हुए। यह सम्मान शिक्षा के क्षेत्र में श्रेष्ठ कार्य करने वाले शिक्षकों को बच्चों के अध्ययन-अध्यापन के साथ कौशल विकास, बौद्धिक, शारीरिक एवं सामाजिक दायित्वों के प्रति उत्तरदायित्व के लिए प्रेरणादायक कार्य करने के लिए प्रदान किया जाता है। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने मुख्यमंत्री शिक्षा गौरव अलंकरण समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि गुरू आदि काल से समाज के पथ प्रदर्शक रहे हैं इसलिए वह हमेशा सम्मान के पात्र रहे हैं।

5 सितंबर को प्रतिवर्ष शिक्षक दिवस मनाकर शिक्षकों का सम्मान किया जाता है। यह सम्मान राज्य स्तरीय होता है। विकासखण्ड स्तर पर शिक्षक दूत, जिला स्तर पर ज्ञानदीप और संभाग स्तर पर शिक्षा श्री सम्मान से मुख्यमंत्री शिक्षा गौरव अलंकरणयोजना के तहत् शिक्षकों को सम्मानित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना जैसी महामारी की अवधि में शिक्षकों ने शिक्षा की ज्योति को जलाए रखा और बहुत सारे नवाचार किए। राज्य के शिक्षकोें द्वारा उस दौरान किए नवाचारों का अनुकरण अन्य राज्यों ने भी किया। मंत्री डॉ. टेकाम ने कहा कि शिक्षक आदर्श हों तो उनके व्यवहार का अनुकरण सभी करते हैं।

यह भी सत्य है कि प्रत्येक व्यक्ति अपने विद्यार्थी काल में किसी न किसी शिक्षक से प्रभावित होता है। उन्होंने मुख्यमंत्री शिक्षा गौरव अलंकरण पुरस्कार प्राप्त करने वाले सभी शिक्षकों को बधाई देते हुए आग्रह किया कि वे निरंतर छात्र हित में अच्छा कार्य करते रहें। साथ ही अपने साथी शिक्षिकों को भी बेहतर कार्य करने के लिए प्रेरित करें। डॉ. टेकाम ने कहा कि शिक्षिकों को अपने सामाजिक दायित्वों को नहीं भूलना चाहिए। बच्चों को बौद्धिक, नैतिक और कौशल विकास के लिए हमेशा सजग रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि अभी परीक्षा का समय निकट है तो सभी तन-मन से तैयारी में जुट जाएं और संकल्प लें कि इस वर्ष स्कूल का बेहतर परिणाम आए।

मंत्री डॉ. टेकाम ने समारोह में विकासखण्ड स्तर पर कक्षा पहली से पांचवी तक अध्यापन कराने वाले शिक्षकों को शिक्षा दूत पुरस्कार में 5 हजार रूपए, जिला स्तर पूर्व माध्यमिक शाला के कक्षा छठवीं से आठवीं तक अध्यापन कराने वालों शिक्षकों को ज्ञानदीप पुरस्कार में 7 हजार रूपए, संभाग स्तर पर कक्षा 9 वीं से 12 वीं तक अध्यापन कराने वाले शिक्षकों को शिक्षा श्री पुरस्कार में 10 हजार रूपए की सम्मान राशि के साथ ही प्रशस्ति पत्र प्रदान किए। उन्होंने इसके साथ ही जिला अंतर्गत अपने विद्यालय में उत्कृष्ट कार्य करने वाले प्राचार्याें को 2 हजार रूपए, विकासखण्ड स्तर पर प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालयों के उत्कृष्ट कार्य करने वाले प्रधान पाठकों को एक-एक हजार रूपए की सम्मान राशि प्रदान की। सभी सम्मानित शिक्षकों को प्रशस्ति पत्र, शॉल, श्रीफल से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर संयुक्त संचालक स्कूल शिक्षा रायपुर संभाग के. कुमार जिला शिक्षा अधिकारी आर.एल. ठाकुर सहित शिक्षा विभाग के अधिकारी एवं बड़ी संख्या में शिक्षक उपस्थित थे।

इलाज के लिए मरीजों से अतिरिक्त राशि लेने और ऑडिट में गड़बड़ी पाए जाने पर पांच अस्पतालों के विरूद्ध कार्रवाई

No comments

रायपुर। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना के अंतर्गत पंजीकृत अस्पतालों का ऑनलाइन सिस्टम के माध्यम से उपचार लेने वाले मरीजों का ऑडिट किया जाता है। ऑडिट के दौरान विगत दिनों कुछ अनुबंधित निजी अस्पतालों में गड़बड़ियां पाई गई थीं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा रायपुर और बिलासपुर के ऐसे पांच अस्पतालों के खिलाफ निलंबन एवं अर्थदण्ड की कार्रवाई की गई है।

संचालक, स्वास्थ्य सेवाएं-सह-मुख्य कार्यपालन अधिकारी आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना राज्य नोडल एजेंसी, रायपुर के द्वारा ऑडिट में गड़बड़ी पाए जाने वाले अस्पतालों पर कार्रवाई के आदेश जारी किए गए हैं। नवापारा रायपुर के अंजलि नर्सिंग होम, माहेर हॉस्पिटल व शाह नर्सिंग होम, बिलासपुर के श्रीबालाजी हॉस्पिटल और रायपुर के रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल के विरूद्ध कार्रवाई की गई है।

स्वास्थ्य विभाग ने बिलासपुर के श्रीबालाजी हॉस्पिटल को एक साल के लिए निलंबित किया है। नवापारा रायपुर के अंजलि नर्सिंग होम के खिलाफ तीन लाख रूपए के अर्थदण्ड व एक साल के निलंबन, माहेर हॉस्पिटल के खिलाफ पांच लाख रूपए के अर्थदण्ड व एक साल के निलंबन तथा शाह नर्सिंग होम के खिलाफ तीन लाख रूपए के अर्थदण्ड व एक साल के निलंबन की कार्रवाई की गई है। रायपुर के रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल में आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना के अंतर्गत उपचारित मरीजों से अतिरिक्त राशि लिए जाने के मामले में छह लाख 16 हजार 834 रूपए का अर्थदण्ड लगाया गया है। साथ ही इतनी ही राशि संबंधित मरीजों को वापस दिलाया गया है।

टोल-फ्री नंबर पर कर सकते हैं शिकायत

आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना के अंतर्गत पंजीकृत अस्पतालों में इलाज में किसी भी तरह की दिक्कत होने पर मरीज या उसके परिजन सीधे टोल-फ्री नंबर 104 या 14555 में शिकायत कर सकते हैं। शिकायत के आधार पर त्वरित कार्यवाही की जाती है। साथ ही उपचारित मरीजों का ऑनलाइन सॉफ्टवेयर में उपलब्ध डेटा का ऑडिट भी लगातार संबंधित चिकित्सकों के द्वारा किया जाता है। गड़बड़ी पाए जाने पर राज्य नोडल एजेंसी द्वारा समय-समय पर कार्यवाही की जाती है ताकि मरीजों को निःशुल्क व समुचित उपचार मिल सके।

CM जगन रेड्डी ने किया ऐलान - विशाखापत्तनम होगी आंध्र प्रदेश की नई राजधानी

No comments

हैदराबाद। समुद्र तटीय शहर विशाखापटनम आंध्र प्रदेश की नई राजधानी होगी। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने आज इसका ऐलान किया। बता दें, 2014 में आंध्र्र प्रदेश से अलग होकर तेलांगना राज्य बना था। तेलांगना की राजधानी हैदराबाद थी।


 10 साल के लिए हैदराबाद को ही आंध्र प्रदेश की राजधानी बनाया गया था। यह मियाद पूरी होते ही हैदराबाद शहर को अब तेलांगना को सौंपे जाने की तैयारी शुरू हो गई है।

तय करार के अनुसार 2024 तक आंध्र प्रदेश को अपनी राजधानी अलग करना होगा। इसको देखते मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने आज विशाखापटनम को नई राजधानी घोषित किया। हालांकि, उनसे पहले आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रा बाबू नायडु ने अमरावती को आंध्र प्रदेश की राजधानी घोषित किया था। 

मगर जगन मोहन रेड्डी ने इसे बदलते हुए अब विशाखापटनम कर दिया है। अब विशाखापटनम को राजधानी के तौर पर डेवलप किया जाएगा। सचिवालय से लेकर एचओडी बिल्डिंग और रेसिडेंसिलय इलाका विकसित करना होगा।


आर्थिक सर्वेक्षण 2022-23 सदन में पेश - GDP 6.5% रहने का अनुमान, बेरोजगारी दर कम होकर 7.2% हुई

No comments

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को बजट सत्र के दौरान इकोनॉमिक सर्वे पेश किया। सर्वे में वित्त वर्ष 2023-24 के लिए GDP ग्रोथ रेट के 6.5% होने का अनुमान लगाया है। यह पिछले 3 साल में सबसे धीमी ग्रोथ होगी। वहीं नॉमिनल GDP का अनुमान 11% लगाया गया है। FY23 के लिए रियल GDP अनुमान 7% है।


सर्वे में कहा गया है कि भारत दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्था बना रहेगा। सर्वे के अनुसार, PPP (पर्चेजिंग पावर पैरिटी) के मामले में भारत दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और एक्सचेंज रेट के मामले में पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था। सर्वे में भारत का सकल घरेलू उत्पाद (GDP) अनुमान, महंगाई दर अनुमान, विदेशी मुद्रा भंडार और व्यापार घाटे की जानकारी शामिल होती हैं।

GDP से पता चलती है इकोनॉमी की हेल्थ

GDP इकोनॉमी की हेल्थ को ट्रैक करने के लिए उपयोग किए जाने वाले सबसे कॉमन इंडिकेटर्स में से एक है। GDP देश के भीतर एक स्पेसिफिक टाइम पीरियड में प्रोड्यूस सभी गुड्स और सर्विस की वैल्यू को रिप्रजेंट करती है। इसमें देश की सीमा के अंदर रहकर जो विदेशी कंपनियां प्रोडक्शन करती हैं, उन्हें भी शामिल किया जाता है।

महामारी से उबरी इकोनॉमी, बेरोजगारी कम हुई

CEA वी अनंत नागेश्वरन ने कहा, भारत की अर्थव्यवस्था इस दशक की शेष अवधि में बेहतर प्रदर्शन करने को तैयार है।
अब महामारी से उबरने की बात नहीं करनी चाहिए। अब आगे बढ़ना होगा।
बैंकों की बैलेंस शीट में सुधार और क्रेडिट ग्रोथ बढ़ रही है। गैर बैंकिंग और कॉर्पोरेट क्षेत्रों में अब हेल्दी बैलेंस शीट है।
जुलाई सितंबर 2019 में बेरोजगारी दर 8.3% से घटकर जुलाई-सितंबर 2022 में 7.2% हुई।
2022 में कृषि में निजी क्षेत्र की हिस्सेदारी पिछले 12 साल में सबसे अधिक रही है।

ईवी इंडस्ट्री से 2030 तक मिलेंगे 5 करोड़ रोजगार

रिपोर्ट में कहा गया है कि ऑटोमोटिव इंडस्ट्री की ग्रीन एनर्जी की ओर ट्रांजीशन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने की उम्मीद है। डोमेस्टिक इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (EV) मार्केट 2022 और 2030 के बीच 49% की कंपाउंड एनुअल ग्रोथ रेट (सीएजीआर) से बढ़ने की उम्मीद है। ईवी इंडस्ट्री 5 करोड़ डायरेक्ट और इनडायरेक्ट जॉब क्रिएट करेगा।

2022 में RBI के दायरे से बाहर रही महंगाई

साल 2022 में रिटेल महंगाई RBI के 2%-6% के दायरे के बाहर रही। सबसे ज्यादा 7.79% महंगाई अप्रैल 2022 में दिखी। कच्चे तेल, कमोडिटी की कीमतों, मैन्युफैक्चर्ड कॉस्ट के अलावा कई अन्य चीजें होती हैं, जिनकी रिटेल महंगाई दर तय करने में अहम भूमिका होती है। करीब 299 सामान ऐसे हैं, जिनकी कीमतों के आधार पर रिटेल महंगाई का रेट तय होता है।

इकोनॉमिक सर्वे क्या होता है?

हम उस देश में रहते हैं, जहां मिडिल क्लास लोगों की तादाद बहुत ज्यादा है। हमारे यहां ज्यादातर घरों में एक डायरी बनाई जाती है। इस डायरी में पूरा हिसाब-किताब रखते हैं। साल खत्म होने के बाद जब हम देखते हैं तो पता चलता है कि हमारा घर कैसा चला? हमने कहां खर्च किया? कितना कमाया? कितना बचाया? इसके आधार पर फिर हम तय करते हैं कि हमें आने वाले साल में किस तरह खर्च करना है? बचत कितनी करनी है? हमारी हालत कैसी रहेगी?

ठीक हमारे घर की डायरी की तरह ही होता है इकोनॉमिक सर्वे। इससे पता चलता है कि हमारे देश की अर्थव्यवस्था की हालत कैसी है? इकोनॉमिक सर्वे में बीते साल का हिसाब-किताब और आने वाले साल के लिए सुझाव, चुनौतियां और समाधान का जिक्र रहता है। इकोनॉमिक सर्वे को बजट से एक दिन पहले पेश किया जाता है।

दो वॉल्यूम में आता था इकोनॉमिक सर्वे

पहले इकोनॉमिक सर्वे एक ही वॉल्यूम में पेश किया जाता था।2014-15 से इसे दो वॉल्यूम में पेश किया जाने लगा। पार्ट A में पिछले वित्तीय वर्ष में देश की अर्थव्यवस्था ने कैसा परफॉर्म किया इसकी जानकारी होती है। पार्ट B में गरीबी, सामाजिक सुरक्षा, ह्यूमन डेवलपमेंट, हेल्थ केयर और एजुकेशन, जलवायु परिवर्तन, ग्रामीण और शहरी विकास जैसे इश्यू होते हैं।

हालांकि 2021-22 का इकोनॉमिक सर्वे दो-वॉल्यूम फॉर्मेट से सिंगल वॉल्यूम प्लस स्टेटिकल टेबल के लिए एक अलग वॉल्यूम में शिफ्ट हो गया था। प्रिंसिपल इकोनॉमिक एडवाइजर संजीव सान्याल ने इसे पेश करते हुए कहा था कि दो-वॉल्यूम वाले फॉर्मेट में नए विचारों और विषयों को लाने की जगह है, लेकिन लगभग 900 पेज में यह बोझिल भी होता जा रहा है।

 

खेलो इंडिया यूथ गेम्स का भोपाल में हुआ शुभारंभ

No comments

Khelo India Youth Games 2023 : माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने देश में खेलों को जिस ऊंचाई पर ले जाने का काम किया है, उसका एक उदाहरण आज आपके सामने खेलो इंडिया यूथ गेम्स का यह पाचंवा एडिशन है। 9 शहरों में 13 दिन तक यह आयोजन चलेगा और इसमें 6 हजार खिलाड़ी हिस्सा लेंगे. यह कहीं और नहीं मध्य प्रदेश की इस धरती पर होगा. खेलो इंडिया यूथ गेम्स पिछली बार जब हरियाणा में हुआ तो 12 रिकॉर्ड टूटे थे जिसमें से 11 रिकॉर्ड लड़कियों ने तोड़े थे। अब मध्य प्रदेश की धरती पर देखते हैं इस बार कितने रिकॉर्ड टूटते हैं. यह बात केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण और युवा मामले एवं खेल मंत्री श्री अनुराग सिंह ठाकुर ने खेलो इंडिया यूथ गेम्स के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए कही। 


उन्होंने कहा कि एक ओर रिकॉर्ड खिलाड़ी तोड़ेंगे तो दूसरी ओर मैं मध्य प्रदेश वासियों से आग्रह करता हूं कि आप स्टेडियम में रिकॉर्ड संख्या में आएं ताकि अगला कोई आयोजन जैसे नैशनल गेम्स या दूसरे आयोजन करने हो तो लगे कि इसका मौका मध्य प्रदेश को मिले. मध्य प्रदेश वासियों से आग्रह है कि सबका दिल जीत लो, आप ऐसा आयोजन करके दिखा दो. श्री ठाकुर ने कहा कि प्रवासी भारतीय दिवस में जिस तरह मध्य प्रदेश की धरती पर लोगों का स्वागत हुआ वह सराहनीय है। वैसा ही अभिवादन खिलाड़ियों का इस बार भी कीजिए. उन्होंने कहा कि अगले पांच साल के लिए खेलो इंडिया का बजट बढ़ाकर 3200 करोड़ रुपये कर दिया गया है. श्री ठाकुर ने कहा कि खेलों का बजट भी बढ़ाकर प्रति वर्ष 2000 हजार करोड़ रुपये कर दिया गया है. यह भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में खेलो इंडिया यूथ गेम्स आज से शुरू, CM शिवराज सिंह चौहान ने किया उद्घाटन


श्री ठाकुर ने कहा कि अमूमन जब कोई भी बड़ा टूर्नामेंट होता है उससे पहले प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी खिलाड़ियों से बातचीत कर उनका मनोबल बढ़ाते हैं. उन्होंने निखत जरीन के योगदान को याद किया. श्री ठाकुर ने कहा है कि इस बार मलखंभ जैसे खेल को भी खेलो इंडिया यूथ गेम्स में शामिल किया गया है. अब यह रीजनल नहीं बल्कि नेशनल गेम हो गया है. जल्द ही यह इंटरनेशनल गेम बनेगा, ऐसा मुझे उम्मीद है। उन्होंने आगे कहा कि इन खेलों ने गरीब परिवारों के बच्चों को आगे बढ़ने का मौका दिया है। स्थानीय खेल और प्रतिभाएं अब राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान बना रही हैं.

इस अवसर पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने खेलो इंडिया यूथ गेम्स के इस आयोजन में खेल भावना की जीत होनी चाहिए। केंद्रीय युवा मामले एवं खेल राज्य मंत्री श्री निशीथ प्रमामिक, मध्य प्रदेश की खेल मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया समेत खेलों से जुड़े कई गणमान्य व्यक्ति कार्यक्रम में उपस्थित थे.

13 दिनों तक चलने वाले खेलों के इस महाकुंभ में 27 खेल स्पर्धाओं में देश भर से करीब छह हजार खिलाड़ी करीब तीन सौ स्वर्ण पदक समेत 900 से अधिक पदकों के लिए अपने खेल कौशल का प्रदर्शन करेंगे. मध्य प्रदेश के आठ शहर भोपाल, इंदौर, उज्जैन, जबलपुर, ग्वालियर, मंडला, बालाघाट और महेश्वर और दिल्ली इस यूथ गेम्स के विभिन्न खेल आयोजनों की मेजबानी कर रहे हैं.


रेप मामले में दोषी आसाराम को कोर्ट ने सुनाई उम्रकैद की सजा

No comments

नई दिल्ली: रेप केस में दोषी करार किए जा चुके आसाराम बापू को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है. गुजरात की गांधीनगर सेशन कोर्ट ने आसाराम बापू के खिलाफ रेप केस में उम्रकैद की सजा सुनाई है. 6 अक्टूबर 2013 को आसाराम समेत कुल 7 आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था, जिसमें सबूत के अभाव में आसाराम को छोड़कर 6 आरोपियों को बरी कर दिया गया था. इनमें उनकी पत्नी भी शामिल थीं.


सेशन कोर्ट ने सोमवार को आसाराम को दोषी ठहराया था जिसके बाद मंगलवार को सजा सुनाई गई. कोर्ट ने पीड़िता को 50 हजार का मुआवजा देने का आदेश भी दिया है. गुजरात में गांधीनगर की एक अदालत ने आसाराम बापू को एक महिला शिष्या के साथ बलात्कार के मामले में दोषी ठहराया था. आसाराम के खिलाफ यह मामला 2013 में दर्ज किया गया था.

आसाराम को बताया था आदतन अपराधी

इससे पहले अभियोजन पक्ष ने मंगलवार को दावा किया कि आसाराम बापू आदतन अपराधी है और उसने स्वयंभू बाबा पर भारी जुर्माना लगाने के साथ उम्रकैद की सजा सुनाने का अनुरोध किया. विशेष लोक अभियोजक आरसी कोडेकर सेशन कोर्ट के न्यायाधीश डी के सोनी ने सजा पर दोनों पक्षों की दलीलें सुनी और अंतिम आदेश दोपहर साढ़े तीन बजे के लिए सुरक्षित रख लिया था.

 

आज भारत में स्थिर, निडर, निर्णायक और बड़े सपनों के लिए काम करने वाली सरकार है - राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू

No comments

नई दिल्ली: संसद के बजट सत्र से पहले सेंट्रल हॉल में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का अभिभाषण हुआ. अभिभाषण में राष्ट्रपति ने कहा कि हम ऐसा भारत बनाएंगे, जिसमें गरीबी न हो. आज भारत में स्थिर, निडर, निर्णायक और बड़े सपनों के लिए काम करने वाली सरकार है. अमृतकाल का यह 25 वर्ष का कालखंड, स्वतन्त्रता की स्वर्णिम शताब्दी का, और विकसित भारत के निर्माण का कालखंड है. ये 25 वर्ष हम सबके लिए और देश के प्रत्येक नागरिक के लिए कर्तव्यों की पराकाष्ठा करके दिखाने के हैं.


राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने अपने अभिभाषण में कहा कि मेरी सरकार का स्पष्ट मत है कि भ्रष्टाचार लोकतंत्र का और सामाजिक न्याय का सबसे बड़ा दुश्मन है. इसलिए बीते वर्षों से भ्रष्टाचार के विरुद्ध निरंतर लड़ाई चल रही है. हमने सुनिश्चित किया है कि व्यवस्था में ईमानदार का सम्मान होगा. पहले टैक्स रिफंड के लिए लंबा इंतज़ार करना पड़ता था. आज ITR भरने के कुछ ही दिनों के भीतर रिफंड मिल जाता है. आज GST से पारदर्शिता के साथ-साथ करदाताओं की गरिमा भी सुनिश्चित हो रही है.

जनधन-आधार-मोबाइल से फर्जी लाभार्थियों को हटाने से लेकर वन नेशन वन राशन कार्ड तक, एक बहुत बड़ा स्थाई सुधार हमने किया है. बीते वर्षों में डीबीटी के रूप में, डिजिटल इंडिया के रूप में, एक स्थाई और पारदर्शी व्यवस्था देश ने तैयार की है. आयुष्मान भारत योजना ने देश के करोड़ों गरीबों को और गरीब होने से बचाया है, उनके 80 हजार करोड़ रुपए खर्च होने से बचाए हैं. जल जीवन मिशन के तहत तीन वर्षों में करीब 11 करोड़ परिवार Piped Water Supply से जुड़ चुके हैं. इसका सबसे ज्यादा लाभ गरीब परिवारों को ही हो रहा है. मेरी सरकार ने बिना किसी भेदभाव के हर वर्ग के लिए काम किया है. बीते कुछ वर्षों में मेरी सरकार के प्रयासों का नतीजा है कि अनेक मूल सुविधाएं आज या तो शत-प्रतिशत आबादी तक पहुंच चुकी हैं या फिर उस लक्ष्य के बहुत निकट हैं.

सरकार ने पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना को नई परिस्थितियों के अनुसार आगे भी चलाने का निर्णय लिया है. यह एक संवेदनशील और गरीब-हितैषी सरकार की पहचान है. मेरी सरकार ने हर उस समाज की इच्छाओं को पूरा किया है, जो सदियों से वंचित रहा है. गरीब, दलित, पिछड़े, आदिवासी, इनकी इच्छाओं को पूरा कर उन्हें सपने देखने का साहस दिया है. मेरी सरकार की प्राथमिकता में देश के 11 करोड़ छोटे किसान हैं. ये छोटे किसान, दशकों से, सरकार की प्राथमिकता से वंचित रहे थे. अब इन्हें सशक्त और समृद्ध करने के लिए हर तरह की कोशिश की जा रही है. मेरी सरकार ने अनुसूचित जाति, जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग की आकांक्षा को जगाया है. ये वही वर्ग है जो विकास के लाभ से सबसे अधिक वंचित था. अब जब मूल सुविधाएं इस वर्ग तक पहुंच रही हैं, तब ये लोग नए सपने देखने में सक्षम हो पा रहे हैं. आदिवासी गौरव के लिए मेरी सरकार ने अभूतपूर्व फैसले किए हैं.

नॉर्थ ईस्ट और हमारे सीमावर्ती क्षेत्र, विकास की एक नई गति का अनुभव कर रहे हैं. सीमावर्ती गांवों तक बेहतर सुविधाएं पहुंचाने के लिए मेरी सरकार ने Vibrant Villages Programme पर काम शुरू किया है. राष्ट्रीय सुरक्षा की दृष्टि से भी सीमावर्ती क्षेत्रों में अभूतपूर्व infrastructure बीते सालों में तैयार किया गया है. इससे भी, इन क्षेत्रों में विकास को गति मिल रही है. मेरी सरकार ने यह भी सुनिश्चित किया है कि किसी भी काम, किसी भी कार्यक्षेत्र में महिलाओं के लिए कोई बंदिश न हो. ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' अभियान की सफलता आज हम देख रहे हैं. देश में पहली बार पुरुषों की तुलना में महिलाओं की संख्या अधिक हुई है एवं महिलाओं का स्वास्थ्य भी पहले के मुकाबले और बेहतर हुआ है. हमारी विरासत हमें जड़ों से जोड़ती है और हमारा विकास आसमान को छूने का हौसला देता है. इसलिए मेरी सरकार ने विरासत को मजबूती देने और विकास को प्राथमिकता देने की राह चुनी है.

मेड इन इंडिया अभियान और आत्मनिर्भर भारत अभियान की सफलता का लाभ देश को मिलना शुरु हो चुका है. आज भारत में मैन्युफेक्चरिंग की अपनी कैपेसिटी भी बढ़ रही है और दुनिया भर से भी मैन्युफेक्चरिंग कंपनियां भारत आ रही हैं. मेरी सरकार की नई पहल के परिणामस्वरूप हमारा रक्षा निर्यात छह गुना हो गया है. मुझे गर्व है कि हमारी सेना में आज INS विक्रांत के रूप में पहला स्वदेशी एयरक्राफ़्ट कैरियर भी शामिल हुआ है. मेरी सरकार देश के युवाओं की शक्ति को खेलों के जरिए भी देश के सम्मान से जोड़ रही है. मेरी सरकार ने innovation और entrepreneurship पर निरंतर अभूतपूर्व बल दिया है. आज हमारे युवा अपने इनोवेशन की ताकत दुनिया को दिखा रहे हैं.

देश का एविएशन सेक्टर भी तेजी से आगे बढ़ रहा है. आज भारत दुनिया का तीसरा बड़ा एविएशन मार्केट बन चुका है. इसमें उड़ान योजना की भी बहुत बड़ी भूमिका है. भारतीय रेलवे अपने आधुनिक अवतार में सामने आ रही है और देश के रेलवे मैप में अनेक दुर्गम क्षेत्र भी जुड़ रहे हैं. भारतीय रेलवे दुनिया का सबसे बड़ा बिजली से चलने वाला रेलवे नेटवर्क बनने की दिशा में तेज़ी से अग्रसर है. भारत ने उस सोच को भी बदला है जो प्रगति और प्रकृति को परस्पर विरोधी मानती थी. मेरी सरकार ग्रीन ग्रोथ पर ध्यान दे रही है और पूरे विश्व को मिशन LiFE से जोड़ने पर बल दे रही है. बीते आठ वर्षों में देश में मेट्रो नेटवर्क में तीन गुना से अधिक बढ़ोतरी हुई है. मेरी सरकार देश के विकास के लिए जिस स्पीड और स्केल पर काम कर रही है, वह अभूतपूर्व है, अतुलनीय है. 2014 से पहले जहां देश में कुल लगभग 725 विश्वविद्यालय थे, वहीं बीते केवल आठ वर्षों में 300 से अधिक नए विश्वविद्यालय बने हैं.

 

Tips to Control Anger: ज्यादा गुस्सा सेहत के लिए होता है खतरनाक, इन आसान तरीकों से करें कंट्रोल

No comments

Tips to Control Anger: बिगड़ती लाइफस्टाइल और बढ़ते वर्कलोड के चलते लोगों के व्यवहार में तेजी से बदलाव देखने को मिल रहा है. लेकिन जो सबसे बड़ा चेंज युवाओं में देखने को मिल रहा है वह है उनका बढ़ता गुस्सा. वैसे तो गुस्सा हम सभी को आता है और यह एक इंसानी प्रवृत्ति है लेकिन कई बार यह गुस्सा सेहत के लिए खतरनाक साबित होता है. खास तौर पर तब जब बार-बार और कई बार गुस्सा आए. कुछ लोगों को इतना तेज गुस्सा आता है जिसके बाद वह खुद पर भी काबू नहीं रख पाते.


इस गुस्से से खुद का शरीर तो नुकसान झेलता ही है इसके अलावा मुंह से लोगों के लिए उस वक्त भला बुरा निकल जाता है जिसका बाद में रिग्रेट होता है. आपको बता दें कि गुस्सा करने से स्ट्रेस बढ़ता है और दिल की बीमारियों (diseases) का खतरा काफी हद तक बढ़ जाता है. अगर आपको भी बार-बार ज्यादा गुस्सा आता है और आप इसे कंट्रोल नहीं कर पाते तो यह खबर आपके लिए है. हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ बेहद आसान तरीके जिससे आप अपने गुस्से को महज़ 5 मिनट में शांत कर पाएंगे

रिसर्च में हुआ खुलासा
University Of Wisconsin में गुस्से के दौरान दिमाग के पैर्टन को समझने की कोशिश कि जिसमें सामने आया कि अगर आप गुस्से वाली परिस्थिति से कुछ सेकेंड या मिनट के लिए अपना ध्यान भटका लें तो आपका गुस्सा अपने आप शांत हो जाएगा साथ ही आपको सुकून भी मिलेगा.

गुस्सा शांत करने के आसान तरीके

1. तीन बार लें लंबी सांस
वैसे को खराब मूड को कई तरीकों से ठीक किया जा सकता है, लेकिन जब आपको बहुत ज्यादा ही गुस्सा आ रहा हो तो बस तीन बार गहरी सांस लीजिए. आपका सारा गुस्सा और स्ट्रेस ख़त्म हो जाएगा और आपको पता भी नहीं चलेगा.

2. खुद पर कंट्रोल रखें
अगर सामने ऐसा कुछ हो रहा है कि आपको गुस्सा आ जाए, तो सबसे पहले खुद पर कंट्रोल रखें. उसके बाद एक गहरी सांस लें और सोचे कि इस सिचुएशन में और किस तरह से रिएक्ट किया जा सकता है.

3. वॉक पर जाएं
अगर आपक किसी वजह से बहुत ज्यादा गुस्सा आ रहा है तो आप एक वॉक पर जाएं ,ज्यादा नहीं मात्र 5 से 10 मिनट की वॉक. वॉक करने से आप अच्छा फील करेंगे. आप चाहे तो योग भी कर सकते हैं. योगा भी आपके मूड को बहुत जल्दी ठीक कर देगा.

4. जोर जोर से गाना गाएं
अपने गूस्से को अंदर से निकालने के लिए गाने से अच्छा ऑप्शन क्या हो सकता है. जब गुस्सा आ रहा हो तो जोर जोर से गाना गाएं या फिर नाचें. ऐसा करने से आप गुस्से की वजह ही भूल जाएंगे.

5. खुद को करें पिंच
थोड़ा सा अजीब है लेकिन उपाय बड़ा असरदार है. ऐसा करने से आपका मेंटल स्ट्रेस कम होता है और आप अपने काम पर फोकस कर पाते हैं. अब जब भी गुस्सा आएं को खुुद को चिमटी काट लें.

नोट- उपरोक्‍त दी गई जानकारी व सुझाव सिर्फ सामान्‍य सूचना के उद्देश्‍य से पेश की गई है हम इन पर किसी भी प्रकार का दावा नहीं करते हैं. इन्‍हें अपनाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें.

© Media24Media | All Rights Reserved | Infowt Information Web Technologies.