Responsive Ad Slot

Latest

latest


 

BJP नेता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, कांग्रेस के पूर्व विधायक का हुआ निधन

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के छतरपुर इलाके में एक बीजेपी नेता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत का मामला सामने आया है। पुलिस के मुताबिक गुरुवार सुबह 4 बजकर 45 मिनट में एक महिला ने उन्हें कॉल करके बताया कि छतरपुर में JMD एस्टेट के चौथी मंजिल पर एक शख्स की मौत हो गई है। महिला ने बताया कि संजीव सेजवाल वहां पार्टी करने गया था और उसने खुद को गोली मार ली। सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची, जहां उन्हें संजीव सेजवाल की लाश मिली। वहीं लाश के पास ही पुलिस को पिस्तौल भी बरामद हुई। 


पुलिस ने मामले की जांच के लिए मौके पर फॉरेंसिक टीम को बुलाया और सारे सबूत इकट्ठे किए गए। इसके बाद पुलिस ने जांच शुरू की। पुलिस का कहना है कि जिस फ्लैट में BJP नेता संजीव सेजवाल की लाश मिली है वो फ्लैट उसने किराए पर लिया हुआ था। शाम को उसके दोस्त फ्लैट पर आए और वहां पर पार्टी हुई। फ्लैट के केअरटेकर ने बताया कि इस पार्टी में एक महिला भी शामिल थी। 

हत्या के मामले में प्राइम विटनेस थे संजीव

फिलहाल पुलिस उन लोगों का पता लगाने में जुटी है जो पार्टी में शामिल हुए थे। जांच में ये भी सामने आया है कि संजीव सेजवाल अपने किसी रिश्तेदार की हत्या के मामले में प्राइम विटनेस थे और उसे पुलिस की तरफ से PSO भी मिला हुआ था। पुलिस ये भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आखिरकार PSO उस समय कहा था। 

कई पहलुओं से जांच कर रही पुलिस

पुलिस को जो पिस्तौल बरामद हुई है उसे बैलेस्टिक जांच के लिए भेजा गया है, लेकिन अभी तक ये साफ नहीं हुआ है कि पिस्तौल किसकी थी। पुलिस ने संजीव सेजवाल के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस कई पहलुओं से मामले की जांच कर रही है। पुलिस ने कहा कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से साफ हो पाएगा कि BJP नेता संजीव सेजवाल ने आत्महत्या की है या उसकी हत्या की गई है।

पूर्व विधायक चंद्रदर्शन गौर का निधन

वहीं मध्यप्रदेश कांग्रेस के सीनियर नेता चंद्रदर्शन गौर का 70 साल की उम्र में निधन हो गया है। उन्होंने नागपुर के अस्पताल में अंतिम सांस ली। बता दें कि वे काफी समय से बीमार चल रहे थे, जिसके बाद इलाज के लिए उन्हें नागपुर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वे कटनी के मुड़वारा विधानसभा सीट से कांग्रेस के विधायक भी रह चुके हैं। किडनी संबंधी दिक्कत की वजह से चंद्रदर्शन गौर काफी समय से डायलिसिस पर थे।

कई दिनों से बीमार चल रहे थे चंद्रदर्शन

कुछ दिनों पहले अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गई थी, जिसके बाद परिवार के लोगों ने उन्हें नागपुर के अस्पताल में भर्ती कराया था। जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। कांग्रेस नेता की निधन की खबर से राजनीतिक गलियारों में शोक का माहौल है। बता दें कि चंद्रदर्शन सिर्फ कांग्रेस के सीनियर नेता ही नहीं बल्कि दैनिक मध्य प्रदेश के संपादक भी रहे थे। चंद्रदर्शन गौर 1980 में कांग्रेस के टिकट पर मुड़वारा-रीठी विधानसभा क्षेत्र से विधायक निर्वाचित हुए थे। उनकी पहचान एक जमीन से जुड़े नेता की थी।

पूर्व CM कमलनाथ ने जताया दुख

अपने कार्यकाल में उन्होंने विधानसभा क्षेत्र में बहुत से विकास कार्य किए। कटनी को जिला बनाने के लिए लड़ाई की वजह से उन्होंने मंत्री पद भी ठुकरा दिया था। कांग्रेस नेता के निधन पर मध्य प्रदेश के पूर्व CM कमलनाथ ने दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट कर चंद्रदर्शन गौर के परिवार के प्रति अपनी संवेदना जाहिर की है। कांग्रेस नेता पीसी शर्मा ने भी चंद्रदर्शन गौर के निधन पर दुख जताया है। उन्होंने भी उनके परिवार के प्रति संवेदना जाहिर की है।

  सर्वश्रेष्ठ विधायक का मिला था अवॉर्ड 

विधायक रहते हुए चंद्रदर्शन ने कटनी को जिला बनाने के लिए काफी कोशिश की थी। इसी का नतीजा है कि कटनी को जिला बनाया गया। उनके संघर्ष की वजह से ही जिला पुनर्गठन आयोग बनाया गया था। उसकी रिपोर्ट के आधार पर ही कटनी को जिला बनाया गया था। उनके भाषणों के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ विधायक का अवॉर्ड भी मिला था। अपने राजनीतिक करियर में वे कांग्रेस में कई पदों पर रहे।

Don't Miss
© Media24Media | All Rights Reserved | Infowt Information Web Technologies.